ऐसी क्या वजह है विपश्यना इंसां की जो SIT के सामने नहीं हो रही पेश

डेरा सच्चा सौदा की चेयरपर्सन विपश्यना को पुलिस कभी भी गिरफ्तार कर सकती है. पुलिस ने उसे आज फिर पूछताछ के लिए बुलाया है. बुधवार को SIT ने उसका मेडिकल चेकअप कराया था और खराब सेहत के उसके दावों की पड़ताल की थी. मंगलवार को ही उसे तमाम सवालों को जवाब देना था, लेकिन वो पुलिस के सामने हाजिर नहीं हुई.पुलिस को शक है कि विपश्यना सवालों से भाग रही है. वैसे सिरसा पुलिस उससे पूछताछ कर चुकी है. विपश्यना डेरा के थिंक टैंक के सदस्यों से एक है. वही पूरा मैनेजमेंट देखती है. ऐसे में डेरा का राज जानने के लिए SIT विपश्यना से हर कीमत पर सवाल जवाब करना चाहती है. हनीप्रीत और विपश्यना को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करना चाहती है.

हरियाणा पुलिस के हाथ कई और महत्वपूर्ण दस्तावेज भी लगे हैं, जिनको 28 अगस्त की रात हनीप्रीत इंसान ने चुपचाप निकालकर गुरुसर मोडिया पहुंचा दिया था. हनीप्रीत के निर्देशों के मुताबिक उसके करीबियों ने 28 अगस्त को दोपहर 2 बजे राम रहीम की गाड़ी, जिसकी कीमत डेढ़ करोड़ रुपये थी, उसे आग के हवाले कर दिया था. हनीप्रीत से सच उगलवाने और सबूत इकट्ठा करने के लिए हरियाणा पुलिस लगातार कोशिश कर रही है. लेकिन कामयाबी के नाम पर अब तक हाथ खाली हैं. पुलिस को उम्मीद है कि हनीप्रीत जिन जगहों पर 38 दिनों तक छिपी रही, वहां से उसे कुछ सुराग मिल सकते हैं. इसीलिए हनीप्रीत को साथ लेकर पुलिस अब राजस्थान पहुंच चुकी है.

एड़ी-चोटी का जोर लगाएगी पुलिस

 पूछताछ का आज आखिरी दिन होने के कारण पुलिस एडी चोटी का जोर लगाएगी। पुलिस ने 10 अक्टूबर को हनीप्रीत का पुलिस रिमांड खत्म हुआ था। पुलिस ने उसी दिन विपश्यना को पूछताछ के लिए पंचकूला बुलाया था।  वह स्वास्थ्य खराब होने का हवाला देकर वहां नहीं पहुंची। अब पुलिस आखिरी दिन हनीप्रीत को डेरा सच्चा सौदा लेकर जा सकती है और हनीप्रीत और विपश्यना को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है।

हनीप्रीत ने कबूली पैसे बांटने और पंचकूला हिंसा में हाथ होने की बात

वहीं, चंडीगढ़ में रिमांड के दौरान हनीप्रीत ने बुधवार को कबूल किया कि पंचकूला में हिंसा उसके इशारे पर हुई। एसआईटी के मुताबिक, हनीप्रीत ने बताया कि हिंसा के लिए उसने सवा करोड़ रुपए भी बांटे थे।  बता दें, कि रिमांड के बाद मंगलवार को एसआईटी कोर्ट ने हनीप्रीत और सुखदीप कौर को पंचकूला कोर्ट में पेश किया था। इससे पहले हनीप्रीत को 4 अक्टूबर को कोर्ट में पेश किया गया था। इस दौरान हनीप्रीत ने रोते हुए कहा था कि मैं बेगुनाह हूं। हनीप्रीत पर 25 अगस्त को पंचकूला में हुई हिंसा की साजिश रचने का आरोप है। पंचकूला हिंसा में 36 लोग मारे गए थे और सिरसा में भी 5 की मौत हुई थी। हनीप्रीत देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार है और रिमांड पर चल रही है।

 

Like and Follow Us On Social Media –Facebook

Show Buttons
Hide Buttons