हिमाचल प्रदेश में बसों पर आफत बनकर गिरा पहाड़

हिमाचल प्रदेश में बारिश के कारण पहाड़ों से गिर रहीं चट्टानें मुसीबत बनी हुई हैं, लेकिन शनिवार रात मंडी जिले के पधर के पास कोटरोपी में पहाड़ी एसी दरकी की नेशनल हाईवे को ध्वस्त करती हुई वाहनों में बैठे लोगों को जमींदोज कर गई। लैंडस्लाइडिंग के इस हादसे में दबी बस को निकालने का कार्य पिछले 30 घंटों से युद्धस्तर पर चला हुआ है। अभी तक 48 शवों को मलबे में से निकाला जा चुका है। पहाड़ दरकने से 400 मीटर हाईवे की सड़क गायब हो गई।

ग्रामीणों ने की मदद

हादसे की सूचना मिलने पर सास्ती और पंदलाही गांव के सैकड़ों ग्रामीण बस के पास पहुंचे। मलबा हटाने की लाख कोशिश की, लेकिन प्रयास सिरे नहीं चढ़े। उधर, सीएम ने कहा कि जब तक मलबे में दबे सभी लोग नहीं मिल जाते तब तक रेस्क्यू सर्च कार्य जारी रहेगा।

रेस्क्यू में जुटे हैं 500 जवान

  • आर्मी, एनडीआरएफ, पुलिस होमगार्ड के लगभग 550 जवान रेस्क्यू कार्य में जुटे हुए हैं। रेस्क्यू कार्य में स्थानीय लोग भी सहयोग कर रहे हैं।
  • प्रशासन की ओर से बस में सवार लोगों को निकालने के लिए 18 जेसीबी पोकलेन मशीनें भी लगाई गई हैं।
    -रेस्क्यू टीमों ने जिस जगह पर दूसरी बस मलबे में दबी है उस जगह को ट्रेस कर लिया है, लेकिन मलबा अधिक होने से रेस्क्यू में समय लग रहा है।
  • हादसे के बाद पूरा कोटरोपी आसपास के क्षेत्र गम में डूबे हैं। कुछ लोग इतने डरे और सहमे भी हैं।
  • रेस्क्यू बचाव कार्य जारी है,लेकिन मौसम के खराब होने बारिश होने की स्थिति में रेस्क्यू टीमों की मुश्किल बढ़ सकती है, जिसकी संभावना बनी हुई है।

 

Follow Us On Social Media – Facebook.
Show Buttons
Hide Buttons