CBSE पेपर लीक : CBSE बिल्डिंग के बाहर छात्रों का प्रदर्शन जारी

नई दिल्ली: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के प्रश्न-पत्रों के लीक होने के बाद अब देशभर में 12वीं के अर्थशास्त्र (इकोनॉमिक्स) की दोबारा परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जाएगी. जबकि 10वीं के गणित की दोबारा परीक्षा मात्र दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) और हरियाणा में जुलाई के महीने में कराई जाएगी.

इस बीच सीबीएसई के छात्रों और अभिभावकों का प्रदर्शन जारी है. आज नई दिल्ली के प्रीत विहार इलाके में स्थित सीबीएसई दफ्तर के बाहर छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शन की वजह से सड़कों पर लंबा जाम लगा है.

शिक्षा मंत्री बोले- कोई कन्फ्यूजन नहीं

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र (इकोनॉमिक्स) की परीक्षा 25 अप्रैल को होगी और अगर जरूरी हुआ तो 10वीं कक्षा का गणित विषय का इम्तिहान दिल्ली- एनसीआर और हरियाणा में जुलाई में होगा.

उन्होंने कहा, ”शैक्षिक और छात्रों के हितों को देखते हुए संवेदनशील सरकार ने 10 वीं की गणित की फिर से परीक्षा राष्ट्रव्यापी स्तर पर नहीं लेने का फैसला किया है. पुलिस से अंतिम जानकारी मिलने के बाद दोबारा परीक्षा दिल्ली और हरियाणा में होगी और अगर जरूरी हुआ तो यह जुलाई में होगी.”

स्वरूप ने कहा, “वह प्रश्न-पत्र मात्र दिल्ली और हरियाणा में लीक हुआ था और अगर दोबारा परीक्षा होगी तो मात्र इन राज्यों में जुलाई में होगी. इस मुद्दे पर अगले 15 दिनों में निर्णय ले लिया जाएगा.”

उन्होंने कहा कि 12वीं के अर्थशास्त्र का प्रश्न-पत्र देशभर में लीक हुआ था, इसलिए उसकी दोबारा परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित होगी. लेकिन भारत के बाहर प्रश्न-पत्र लीक का कोई मामला नहीं होने के कारण देश के बाहर कोई नई परीक्षा नहीं होगी.

प्रश्न-पत्र घोटालों के लिए जिम्मेदारी स्वीकारने और इस मामले के बाद भी सीबीएसई प्रमुख अनीता करवल को हटाए न जाने के सवालों के जबाव में स्वरूप ने कहा कि जांच पूरी होने के बाद जिम्मेदारी तय की जाएगी.

सीबीएसई अध्यक्ष को लीक की पहले से थी जानकारी

गणित के पेपर से जुड़ी शिकायत पर बोर्ड ने कहा कि परीक्षा से एक दिन पहले लीक के बारे में सीबीएसई अध्यक्ष की आधिकारिक ईमेल आईडी पर एक ई-मेल आया था. उन्होंने बताया कि ईमेल भेजने वाले ने कहा था कि गणित का पेपर व्हाट्सएप पर लीक हो गया है और इसे रद्द किया जाना चाहिए.

दिल्ली पुलिस ने दो मामले दर्ज किए हैं. अर्थशास्त्र का पेपर लीक होने के संबंध में पहला मामला 27 मार्च को और गणित का पेपर लीक होने का मामला 28 मार्च को दर्ज किया गया. गणित और अर्थशास्त्र की परीक्षा क्रमश: 28 मार्च और 26 मार्च को हुई थी

Show Buttons
Hide Buttons