1 अप्रैल से SBI करेगी ये बड़ा बदलाव

यदि आप भी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ग्राहक हैं तो आपके लिए एक सुकून की खबर है। एसबीआई ने अकाउंट बैंलेंस मेंटेन नहीं करने पर लगने वाली पेनाल्टी में 75 परसेंट तक की कमी कर दी है। नए चार्जेस 1 अप्रैल 2018 से लागू हो जाएंगे। एसबीआई के करीब 25 करोड़ ग्राहकों को इससे फायदा मिलेगा। हम बता रहे हैं कि अब मेट्रो, सेमी अर्बन ब्रांच और रूरल ब्रांच के ग्राहकों को मिनिमम बैलेंस न होने पर कितना चार्ज देना होगा।

1 अप्रैल से SBI करेगी ये बड़ा बदलाव, 25 करोड़ खाताधारकों पर पड़ेगा सीधा असर, national news in hindi, national news

मिनिमम बैलेंस कितना होना जरूरी?

मेट्रो सिटी की ब्रांच में जिन ग्राहकों का अकाउंट है, उन्हें मिनिमम 3 हजार रुपए का बैलेंस रखना जरूरी है। वहीं जिनका सेमी अर्बन ब्रांच में अकाउंट है उन्हें मिनिमम 2 हजार रुपए अकाउंट में रखना जरूरी है। इसी तरह रूरल ब्रांच के कस्टमर्स को 1 हजार रुपए अकाउंट में रखना जरूरी है। इससे कम बैलेंस होने पर बैंक कस्टमर से पेनाल्टी वसूल करता है।

मेट्रो और अर्बन सेंटर्स के ग्राहकों से अभी जहां 50 रुपए पेनाल्टी प्लस जीएसटी वसूला जाता है। वहीं अब यह 15 रुपए प्लस जीएसटी (प्रतिमाह) कर दिया गया है। इसी तरह सेमी अर्बन और रूरल सेंटर्स में वसूल की जाने वाली पेनाल्टी को 40 रुपए से घटाकर 12 रुपए कर दिया गया है। वहीं रूरल एरिया में इसे 10 रुपए कर दिया गया है।

Show Buttons
Hide Buttons