हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की कार पर किया हमला जानिए पूरा मामला

पानीपत :  डीसी, एसपी और दो डीएसपी समेत करीब 25 पुलिस कर्मियों से घिरी हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज की कार पर दो युवकों ने सीमेंट की ईंट से हमला कर दिया। हमले में मंत्री बाल-बाल बच गए, पर उनकी कार का फ्रंट शीशा टूट गया। पुलिस ने दोनों युवकों को मौके से गिरफ्तार कर लिया। पत्थर मारने वाले युवक का नाम दीपक है, इसकी मां एक फैक्ट्री में मजदूर है। उसके साथी युवक की पहचान जीआरपी के सब इंस्पेक्टर धर्म सिंह के बेटे अमित के रूप में हुई।

  • परिजनों के मुताबिक प्राइवेट कंपनी में काम करने वाले दीपक की नौकरी 15 दिन पहले ही छूट गई थी और अमित ने हाल ही में हरियाणा पुलिस के लिए इंटरव्यू दिया था, जिसमें वह आधे नंबर से बाहर हो गया था।
  •  दोनों ही बेरोजगार युवक मंत्री विज से मिलने गए थे। हालांकि पुलिस का कहना है कि दोनों युवक एससी-एसटी एक्ट में हाल ही में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का विरोध कर रहे थे।
  •  वहीं विधायक महिपाल ढांडा और रविन्द्र मच्छरौली ने कहा कि हमलावर शराब के नशे में थे। दरअसल स्वास्थ्य मंत्री विज शुक्रवार को पानीपत में जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक लेने के लिए आए थे।
  •  बैठक दोपहर 12 बजे शुरू हुई और पहली ही शिकायत के दौरान मंत्री ने पुलिस को पूरी तरह फेल बताया।

ऐसे घटा पूरा घटनाक्रम

बैठक समाप्त होने के बाद मंत्री करीब 1 बजकर 45 मिनट पर बाहर निकले। लेकिन तय एजेंडों से ज्यादा शिकायतें नहीं सुनने के कारण बाहर खड़ी महिलाओं ने मंत्री को घेर लिया और नारेबाजी की।

पुलिस ने जैसे-तैसे करके मंत्री को वहां से निकाला। मंत्री सीढिय़ों से नीचे उतरे और लघु सचिवालय में खड़ी कार में बैठे। उन्हें शहर में ही किसी कार्यकर्ता के घर चाय पर जाना था, इसलिए उनके साथ ग्रामीण विधायक महिपाल ढांडा और समालखा विधायक रविन्द्र मच्छरौली भी थे।

DC, SP और 25 पुलिसकर्मियों के बीच मंत्री विज पर फेंका पत्थर, कार का शीशा टूटा

इन सब के गाड़ी में बैठते ही दो युवक पुलिस का सुरक्षा चक्र भेदते हुए आए और इंटरलॉक टायल मारकर उनकी गाड़ी का शीशा तोड़ दिया। दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 186/353/341/506/34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

घटना के बाद मंत्री समालखा विधायक की गाड़ी से सरकारी होटल स्काई लार्क पहुंचे। जहां मंत्री ने डीसी और एसपी के साथ मीटिंग की।

आरोपियों के परिजनों ने कहा- बेरोजगारी के कारण यह सब हुआ

  • जांच में सामने आया है कि दीपक पुत्र भारतभूषण निवासी महावीर कालोनी और अमित पुत्र धर्मसिंह शांति नगर माडल टाउन का रहने वाला है। दोनों ही परिवारों ने कहा कि यह सब बेरोजगारी का कारण ही हुआ है।
  •  दीपक की मां कृष्णा देवी के अनुसार उसके पति का निधन हो चुका है और वो फैक्ट्री में काम करके परिवार चलाती हैं। वहीं अमित के पिता धर्म सिंह पानीपत जीआरपी थाने में सब इंस्पेक्टर हैं।
  •  उन्होंने कहा कि अमित ने अकाउंट का कोर्स किया है। उसका हमले में कोई रोल नहीं था। वह सिर्फ मंत्री से मिलने गया था।
Show Buttons
Hide Buttons