समाज में बढ़ती संवेदनहीनता और सेल्फी के अमानवीय जुनून का असर

चौहटन क्षेत्र के मते का तला के निकट सोमवार को भीषण सड़क हादसे में तीन युवकों की मौत हो गई। मते का तला के पास गोलाई में तेज गति से आ रही स्कूली बस ने बाइक को टक्कर मार दी। इससे बाइक पर सवार एक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जबकि गंभीर घायल दो युवक सड़क पर तड़पते रहे। इस दौरान वहां खड़े लोग घायलों को संभालने की बजाय वीडियो बनाने में ही मशगूल रहे।

बताया जाता है कि एक घायल व्यक्ति लोगों से मदद की गुहार भी करता रहा, लेकिन किसी का दिल नहीं पसीजा, लोगों को फोटो खींचने और वीडियोग्राफी करने में ज्यादा मजा आ रहा था.

ये तीनों गुजरात में एक सीमेंट फैक्ट्री में लेबर कॉन्ट्रेक्टर का काम करते थे। वे मजदूरों को लेने के लिए राजस्थान आए थे और दो दिन बाद गुजरात लौटने वाले थे।

गेमाराम अपने पीछे पत्नी और दो साल के बच्चे को छोड़ गए हैं, वहीं चंद्रम के घर में उसके माता-पिता, पत्नी और पांच महीने की बच्ची है। इस दुर्घटना में जान गंवाने वाला परमानंद कुंवारा था।

Show Buttons
Hide Buttons