सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम बढ़ने के कारण

नई दिल्लीः रसोई गैस इस्तेमाल करने वालों के लिए बुरी खबर है. अब से हर महीने आपकी रसोई गैस (LPG) पर 4 रुपये बढ़ने जा रहे हैं. सरकार की मार्च 2018 तक एलपीजी पर दी जा रही सब्सिडी पूरी तरह खत्म करने की योजना है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने आज जानकारी दी है कि हर महीने सब्सिडी वाले 14.2 किलोग्राम वाले LPG सिलेंडर के दाम में 4 रुपये की बढ़त करने के लिए कहा जा चुका हैं.

अभी केन्द्र सरकार 14.2 किलो के एलपीजी सिलेंडर पर लगभग 87 रुपये की सब्सिडी देती है. यह कदम पेट्रोल, डीजल समेत सभी तेल उत्पाद से सरकारी सब्सिडी को खत्म करने के लिए उठाया गया है.उल्‍लेखनीय है कि अभी हर एलपीजी सिलेंडर कनेक्‍शन पर साल भर में 12 सिलेंडर सब्सिडी रेट पर मिले हैं. उसके बाद उपभोक्‍ताओं को बाजार की दरों पर सिलेंडर को खरीदना पड़ता है. इसके मुताबिक कंपनियां 10 मौकों पर दाम बढ़ा सकती थीं.

क्या है सरकार का नया निर्देश
धर्मेंद्र प्रधान ने यह जानकारी लोकसभा में एक लिखित जवाब में दी. सरकार ने ये आदेश 30 मई 2017 को ही पास कर दिया था. इसमें ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को एक जून 2017 से हर महीने प्रति सिलेंडर 4 रुपये बढ़ाने को कहा है. ये आदेश मार्च 2018 तक या सिलेंडर पर दी जा रही सब्सिडी खत्‍म होने तक जारी रहेगी.

सरकारी तेल कंपनियों (इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्‍तान पेट्रोलियम) को अगले साल मार्च तक सब्सिडी को पूरी तरह से खत्‍म करने का निर्देश दिया गया है. केंद्र सरकार एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी को पूरी तरह से खत्‍म करने की लंबे समय से तैयारी कर रही है. इसी कड़ी में 1 जुलाई 2016 को घरेलू LPG सिलेंडर की कीमतों में हर महीने 2 रुपये बढ़ाने का आदेश जारी किया गया था जिसके बाद से अब तक ओएमसीज (ऑयल मार्केटिंग कंपनियां) कुल मिलाकर 10 बार एलपीजी सिलेंडर के दाम बढ़ा चुकी हैं

गौरतलब है कि 1 जुलाई तक देश में 18.12 करोड़ एलपीजी उपभोक्ता हैं. इनमें से लगभग 2.5 करोड़ गरीब उपभोक्ता हैं जिन्हें प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत बीते एक साल के दौरान एलपीजी कनेक्शन दिया गया है. वहीं सब्सिडी का लाभ नहीं लेने वाले उपभोक्ताओं की संख्या 2.66 करोड़ है.

Show Buttons
Hide Buttons