वाराणसी हादसा : एक झटके ने मचाई इतनी तबाही, अंदाजा भी नहीं था किसी को

वाराणसी में मंगलवार को उस वक्त अ’मंगल’ साबित हुआ, जब लोहे और सीमेंट का बना हजारों टन वजनी स्लैब नीचे गिरा और लोगों को जान बचाने का मौका भी नहीं मिला. फ्लाईओवर के नीचे से जा रहे लोगों को किसी भी तरह का अंदाजा नहीं था कि एक झटके में कितनी बड़ी तबाही आने वाली है.

फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई है, हादसे में कई लोग घायल बताए जा रहे हैं. मौके पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम ने तीन लोगों को जिंदा निकाला. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज दोपहर 12 बजे पहुंचेगे. घायलों से मिलने के बाद मुख्यमंत्री मौके का मुआयना करेंगे.

 

मृतकों को 5 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान

वाराणसी में हुए इस भीषण हादसे के बाद एनडीआरएफ और सेना की टीमों को मौके पर राहत कार्यों के लिए भेजा गया है। साथ ही प्रदेश सरकार की ओर से मृतकों के परिवार को 5 लाख रुपये और घायलों को 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई है।

8 घंटों के अंदर दोषी होंगे चिन्हित

वहीं मामले की जांच के लिए उच्चस्तरीय जांच कमेटी बना दी गई है. इसमें एपीसी की अगुवाई में प्रमुख अभियंता एवं विभागाध्यक्ष सिंचाई विभाग और एमडी जल निगम को रखा गया है. ये कमेटी 48 घंटे के अंदर जांच कर दोषियों को चिन्हित करेगी. उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा.

PM ने जताया दुख

वाराणसी हादसे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गहरा दुख जताया है. हादसे की सूचना के बाद उन्होंने सीएम योगी से बात की और हर संभव मदद देने का भरोसा दिया है.

Show Buttons
Hide Buttons