रोड रेज मामला : आरोपी सिद्धू को मिले मौत की सजा

हाल ही में 1988 के पटियाला रोड रेज मामले में पंजाब कांग्रेस सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में अपने ही मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की सजा को बरकरार रखने की मांग की। इस मसले पर पीड़ित के पोते ने मंगलवार को ‘टाइम्स नाउ’ से बात की। उन्होंने कहा कि वो आरोपी के लिए मौत की सजा चाहते हैं।

पीड़ित के पोते ने कहा, ‘हम इस मामले में मौत की सजा चाहते हैं। उन्हें उनके अपराध के लिए दंडित किया जाना चाहिए।’ इन्होंने कहा कि एक टीवी शो पर उन्होंने स्वीकार किया है कि जब अपराध हुआ था, तब वह मौजूद थे।

पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया था कि 1988 में हुए रोड रेज के एक मामले में राज्य के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट द्वारा दोषी ठहराया जाना और तीन साल कैद की सजा सुनाया जाना सही फैसला था।

हालांकि निचली अदालत ने सिद्धू को गुरनाम सिंह की हत्या के आरोपों से बरी कर दिया था। लेकिन इसके बाद हाई कोर्ट ने दिसंबर 2006 में फैसले को पलट दिया था और सिद्धू तथा सह आरोपी रूपिंदर सिंह संधु को गैर इरादतन हत्या का दोषी ठहराया था और उन्हें तीन-तीन साल कैद और एक-एक लाख रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई थी।

मृतक के पोते ने कहा, ‘उन्होंने मुझे उस मामले के आधार पर सब कुछ बताया है जिसे सुप्रीम कोर्ट में ले जाया गया।’ साल 2007 में सुप्रीम कोर्ट ने मामले में सिद्धू और संधु की सजा पर स्थगन लगा दिया था, जिससे सिद्धू के लिए अमृतसर लोकसभा सीट पर उपचुनाव लड़ने का मार्ग प्रशस्त हो गया था।

Show Buttons
Hide Buttons