रोंगटे खड़े कर देने वाला खौफनाक नजारा, 6 साल के मासूम बेटे का अपनी मां के प्रति ।

माेहाली(चंडीगढ़).फेज-7 के मकान नंबर-537 में एक 35 साल की महिला ने पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। महिला का 6 साल का बेटा पंखे से लटकती लाश के साथ तीन दिन तक रहा। उसने इस बारे में बाहर किसी को नहीं बताया। शुक्रवार को जब महिला की लाश गलने के कारण बदबू आने लगी तो आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी चंडीगढ़ में रहने वाले मकान मालिक को दी। साथ ही पुलिस कंट्रोल रूम पर भी फोन कर दिया। जब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर घर का दरवाजा खोला तो अंदर पंखे से महिला की लाश लटक रही थी।

लाश के बिल्कुल पास सोफे पर महिला का 6 साल का बच्चा अरमान बैठा हुआ था। पुलिसवालों ने बच्चे को वहां से उठाया और उसे बाहर ले गए।

बच्चे ने धीमी सी आवाज में बताया कि “मम्मी ने कहा था कि मैं फांसी लगा रही हूं, किसी को मत बताना। मैंने कहा- मम्मी फांसी मत लगाओ आप मर जाओगे। लेकिन मम्मी मानी ही नहीं और उन्होंने फांसी लगा ली।

मृतक महिला की पहचान जसपिंदर कौर के रूप में हुई है। पति रणजीत सिंह आर्मी में हैं और उनकी पोस्टिंग फरीदकोट में है।

दूसरे पापा को बताया था मम्मी ने फांसी लगा ली

6 साल के अरमान ने पुलिस को बताया कि मम्मी ने तीन दिन पहले फांसी लगा ली थी। जब उससे पूछा कि उसने इस बारे में किसी को बताया था या नहीं।

इस पर अरमान ने कहा कि उसने दूसरे पापा को बताया था कि मम्मी ने फांसी लगा ली है।

पापा ने पहले दिन कहा कि पुलिस को बता दो। इसके बाद जब मैंने दूसरे दिन पापा को फोन करके बताया तो उन्होंने कहा कि मैं कुछ करता हूं।

जब तीसरे दिन उन्हें फोन करके बताया तो पापा ने कहा कि मैं आ रहा हूं, लेकिन वे अभी तक आए ही नहीं, पुलिस अवैध संबंध के एंगल से भी जांच कर रही है।

भूख लगी तो दो दिन खाए बिस्कुट

मासूम ने बताया कि जब पहले दिन मम्मी ने फांसी लगाई तो उसने पूरे दिन कुछ नहीं खाया। जब रात को भूख लगी थी तो घर में उसे एक बिस्कुट का बॉक्स मिला। बिस्कुट खाकर वह सो गया। अगले दिन भी बिस्कुट ही खाए

खेलने गया, किसी को नहीं बताया

– आसपास के लोगों ने बताया कि पिछले दो-तीन से अरमान शाम के समय घर से बाहर आता था और काफी देर पार्क में दूसरे बच्चों के साथ खेलकर अंधेरे होने के समय अपने घर चला जाता था। उसने किसी को कुछ नहीं बताया।

लाश की हालत बेहद बुरी हो चुकी थी

पंखे से लटक रही जसपिंदर की लाश की हालत इतनी ज्यादा बुरी हो चुकी थी कि उसे देखकर दिल दहल गया। लाश पीछे से बुरी तरह से गल चुकी थी।

लाश का चेहरा तथा हाथ-पैर फट चुके थे। चेहरे व हाथ-पैरों से खून निकलकर नीचे जमीन पर गिर गया था।

हैरानी की बात तो यह है कि इतनी बदबू होने के बाद भी अरमान मां की लाश के साथ रह रहा था।

मामा का फोन आने पर उन्हें बताया कि मां ने फांसी लगा ली

शुक्रवार को जसपिंदर की सहेली जो फेज-3बी2 में रहती है, उसे पुलिस ने कॉल करके बुलाया। इसके बाद इसकी मृतका के भाई को सूचना दी गई।

मृतका के भाई ने जब पुलिस कर्मी के फोन पर कॉल करके बच्चे से बात करवाने को कहा तो मासूम अरमान ने कहा कि मम्मी ने फांसी लगा ली और मम्मी मर गई।

वहीं, थाना मटौर के एसएचओ राजीव कुमार ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी, जिसके बाद माैके पर जाकर देखा गया और इन बातों का पता चला है। शव काे कब्जे में लेकर अस्पताल की मॉर्चरी में पोस्टमार्टम के लिए रखवा दिया है। फिलहाल, कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।
Show Buttons
Hide Buttons