राहुल गांधी का एक ऐसा सवाल जो सोशल मीडिया पर हो रहा काफी तेजी से वायरल

सिंगापुर में एक कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी का एक ऐसे सवाल से सामना हुआ, जिसका जवाब सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है. सिंगापुर में एक कार्यक्रम के दौरान भारत की अर्थव्यवस्था में गांधी परिवार के योगदान पर राहुल गांधी से एक सवाल किया गया, जिसका न सिर्फ राहुल गांधी ने मारक जवाब दिया, बल्कि नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साध दिया. इस सवाल-जवाब के सत्र वाला वीडियो सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है.

दरअसल, एशिया रिबॉर्न के लेखक और अर्थशास्त्र इतिहास के टीचर पीके बासु ने कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी से सवाल किया कि, ‘ऐसा क्यों है कि देश में जब तक आपके परिवार का राज रहा, तब तक भारत का पर कैपिटा इनकम यानी कि प्रति व्यक्ति या दुनिया के मुकाबले काफी कम रहा, देश का विकास नहीं हुआ? मगर जैसे ही आपके परिवार से प्रधानमंत्री की कुर्सी गई, भारत की प्रति व्यक्ति आय काफी हद तक दुनिया की तुलना में तेज गति से बढ़ने लगी?

तो राहुल गांधी का इस पर क्या कहना है कि उनके परिवार के राज के दौरान भारत विकास से अछूता रहा? बासु के सवाल के दौरान ही राहुल ने उनसे पूछ लिया कि उनकी हाइपोथिसिस क्या है? क्योंकि आप अपनी बात में एक परिवार को हद से ज्यादा शक्तिशाली बता रहे हैं. इस पर बासु का जवाब था कि उनकी हाइपोथिसिस उनकी किताब में है. इसके बाद बासु ने अपने सवाल को थोड़ा और विस्तार में पूछा.

इसके बाद राहुल गांधी सवाल के बदले एक सवाल दागते हैं: आपकी हाइपोथिसिस क्या है?

इस पर बासु ने जवाब दिया कि: मैंने आपसे सवाल किया है. मैं यहां आपसे सवाल पूछने के लिए हूं… मेरी हाइपोथिसिस मेरी किताब में है. कृपया मेरी किताब पढ़ें. इसके बाद वहां मौजूद लोग हंसने लगे और तालियां बजाने लगे.

हालांकि, इस पर कार्यक्रम के मॉडरेटर ने उनसे पूछा कि क्या वो इस सवाल का जवाब देना चाहेंगे? तो इस पर राहुल कहते हैं कि हां वो इसका जवाब जरूर देना चाहेंगे. उन्होंने उन्होंने जवाब की शुरुआत सवाल से करते हुए कहा, ‘क्या आप सहमत हैं कि भारत आज सफल है?’ बासु ने कहा कि हां, जब से आपके परिवार ने प्रधानमंत्री का पद छोड़ा है, तबसे भारत सफल है.

राहुल ने फिर कहा कि तो आप ये कह रहे हैं कि 2004 से अब तक भारतीय राजनीति में मेरा कोई रोल नहीं रहा है? क्या आप यही कह रहे हैं? पहले एक बार और सोच लीजिए. आप मुझे दोनों ऑप्शन नहीं दे सकते. या तो मेरा रोल रहा है या नहीं रहा है? उसके बाद दर्शकों के बीच से जोरदार तालियां बजने लगी.

इसके बाद राहुल ने कहा कि  ‘ मैं ऐसा व्यक्ति हूं, जिसे खुद का विरोध करने वाले व्यक्ति से भी प्यार करना सिखाया गया है. मुझे ऐसे व्यक्ति से कोई शिकायत नहीं है, जो कहे कि मैंने आज तक कुछ नहीं किया है. मैं उसके इस विचार का सम्मान करता हूं. मैं उसके इस विचार का विरोध करूंगा, उससे बात करवाने की कोशिश करूंगा, शायद मैं आपका विचार बदल पाऊं. या शायद नहीं. मैं आपके साथ बैठकर आपसे बात करना चाहूंगा. मगर पीएन नरेंद्र मोदी ऐसा कभी नहीं करेंगे. आपने जैसे मेरे सामने कहा है आपकी हिम्मत नहीं होगी कि आप इसी तरह पीएम मोदी के सामने भी क पाएं. और हां, मुझे इस बात पर गर्व है.

दरअसल, एशिया रिबॉर्न के लेखक और अर्थशास्त्र इतिहास के टीचर पीके बासु ने कार्यक्रम के दौरान राहुल गांधी से सवाल किया कि, ‘ऐसा क्यों है कि देश में जब तक आपके परिवार का राज रहा, तब तक भारत का पर कैपिटा इनकम यानी कि प्रति व्यक्ति या दुनिया के मुकाबले काफी कम रहा, देश का विकास नहीं हुआ? मगर जैसे ही आपके परिवार से प्रधानमंत्री की कुर्सी गई, भारत की प्रति व्यक्ति आय काफी हद तक दुनिया की तुलना में तेज गति से बढ़ने लगी?

बाद में राहुल गांधी ने कहा जो यह मानता है कि कांग्रेस कामयाबी की पार्टी नहीं है, जो यह मानता है कि आजादी प्राप्त करना सफलता का हिस्सा नहीं है, जो यह मानता है कि हरित क्रांति सफलता का हिस्सा नहीं है, जो यह सोचता है कि उदारीकरण सफलता का हिस्सा नहीं, उन्हें एक किताब लिखने की जरूरत है. इसके बाद कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से इस कनवर्सेशन का एक वीडियो भी डाला गया, जिसे काफी शेयर किया जा रहा है.

Show Buttons
Hide Buttons