येदियुरप्पा ने तीसरी बार संभाली कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की कमान

कर्नाटक में 48 घंटे के सियासी उतार-चढ़ाव के बाद आखिरकार बीजेपी की सरकार बन गई है. बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा ने आज सीएम पद की शपथ ले ली है. प्रदेश के राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को सीएम पद की शपथ दिलाई. शपथ लेने के बाद येदियुरप्पा ने लोगों को हाथ दिखाकर उनका अभिवादन किया. बता दें कि येदियुरप्पा तीसरी बार कर्नाटक के सीएम बने हैं.

बीजेपी सूत्रों के मुताबिक येदियुरप्पा शपथ ग्रहण समारोह के बाद सदन में बहुमत साबित करने की तारीख का ऐलान कर सकते हैं.

येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण को लेकर बीजेपी मुख्यालय और उनके आवास पर जश्न का माहौल रहा. परंपरागत नृत्य और गाने बाजे के साथ पार्टी समर्थकों का हुजूम पार्टी मुख्यालय पर लगा रहा.

येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त, कांग्रेस ने इसी को चुनौती दी

– राज्यपाल ने येदियुरप्पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त दिया है। कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट में इसी को चुनौती दी है।

– कोर्ट इस मामले में गुरुवार को सुनवाई कर सकता है। शीर्ष अदालत ने भाजपा से बहुमत के लिए जरूरी विधायकों की संख्या वाली लिस्ट मांगी है।

– बता दें कि भाजपा विधानसभा चुनाव में 104 सीटें हासिल करके सबसे बड़ी पार्टी है, जबकि कांग्रेस (78 सीटें) ने जेडीएस (38 सीटें) को समर्थन दे दिया है।

कैसे बन सकती है बीजेपी की सरकार?

बीजेपी के पास बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का वक्त है. सदन में अभी बहुमत का आंकड़ा 112 है. बीजेपी के गणित को समझें तो 104 बीजेपी की सीट, एक निर्दलीय और एक केपीजेपी का विधायक मिलाकर आंकड़ा 106 तक पहुंचता है. सूत्रों के हवाले से खबर है कि बहुमत परीक्षण के दौरान कांग्रेस के 12 विधायक गैरहाजिर रह सकते हैं. ऐसे में सदन में सदस्यों की संख्या 210 हो जाएगी और बहुमत का आंकड़ा 106 पर आ जाएगा. बीजेपी आसानी से बहुमत साबित कर देगी.

सुप्रीम कोर्ट पहुंची कांग्रेस

एक तरफ बीजेपी के सीएम उम्मीदवार शपथ ली है तो दूसरी तरफ कांग्रेस ने राज्यपाल पर आरोप लगाते हुए चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) का रुख किया है और तत्काल सुनवाई करने का आग्रह किया है.

कांग्रेस-जेडीएस की याचिका पर सुनवाई

कांग्रेस की अर्जी पर सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी, अशोक भूषण और एसए बोडबे की खंडपीठ ने आधी रात के बाद पौने दो बजे कांग्रेस-जेडीएस की याचिका पर सुनवाई शुरू की और सुबह पांच बजे य‍ह फैसला सुना दिया कि व‍ह राज्‍यपाल के संवैधानिक अधिकारों में दखल नहीं दे सकती, इसलिए येदियुरप्‍पा पहले से तय कार्यक्रम के मुताबिक आज ही शपथ लेंगे. याचिकाकर्ता कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने अर्जी दी थी कि शाम तक इस शपथ ग्रहण समारोह को टाल दिया जाए, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया है.

Show Buttons
Hide Buttons