यमुनानगर : मिड-डे मील वर्कर ने किया प्रदर्शन।

यमुनानगर : अपनी मांगों के लिए प्रदर्शन कर रही मिड-डे मील वर्कर शुक्रवार को यमुनानगर में आत्मदाह करने के लिए बोतलों में डीजल भरकर पहुंची। इसकी सूचना जब पुलिस को मिली तो पुलिस ने उन्हें जगाधरी अनाज मंडी गेट पर रोक लिया और उनकी बोतलें छीन ली। पुलिस ने उनकी घेराबंदी कर ली। इसके विरोध में मिड-डे मील वर्कर ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। बता दें कि मिड-डे मील वर्कर अपनी मांगों के लेकर प्रदर्शन कर रही हैं। मांगे न माने जाने पर उन्होंने आत्मदाह की धमकी दी थी।

पढ़िए पूरा मामला

  • शुक्रवार को यमुनानगर जिले की मिड-डे मील वर्कर लगभग 60 की संख्या में एकत्रित होकर जगाधरी अनाज मंडी पर पहुंची।
  •  इनका नेतृत्व जिला प्रधान हुकमी कांबोज कर रही थी।
  •  अनाज मंडी के गेट पर पहुंचकर उन्होंने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। प्रदर्शन कर रही महिलाओं में से कुछ हाथों में डीजल की बोतलें लेकर पहुंची थी।
  •  बता दें कि इन्होंने एक दिन पहले ही घोषणा की थी कि वे आत्मदाह करेंगी। यह सूचना पुलिस को मिली तो बड़ी संख्या में महिला व पुरुष पुलिसकर्मी अनाज मंडी गेट पर पहुंचे।
  •  उन्होंने मिड-डे मील वर्कर को वहीं रोक लिया और उनसे डीजल से भरी बोतलें छीन ली।
  •  इस दौरान मिड-डे मील वर्कर ने हंगामा किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। पुलिस ने प्रदर्शन खत्म होने तक उन्हें यहीं घेरकर रखा।
  • प्रधान हुकमी कंबोज ने कहा कि वर्कर्स के मात्र एक हजार रुपए बढ़ाने की बात कही गई है। यह हमें मंजूर नहीं है। जब तक मांगें पूरी नहीं होती है, वर्कर्स धरना नहीं छोड़ेंगी।

ये हैं मांगे

  • सभी को पक्का किया जाए।
  • वेतन में बढ़ोतरी की जाए।
Show Buttons
Hide Buttons