मात्र 424 मीटर ही बाइक पर चलेंगे शाह-कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए मॉकड्रिल कर की प्रैक्टिस

15 फरवरी को जींद में होने जा रही इस महारैली के मद्देनजर प्रशासन अमला सतर्क हो गया है। जिले में कानून व्यवस्था बनाए रखने को लेकर सोमवार को पुलिस लाइन में मॉकड्रिल का आयोजन किया गया। इसमें पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए बारीकी से पूर्वाभ्यास किया।

उपायुक्त सोनल गोयल और प्रवर पुलिस अधीक्षक बी. सतीश बालन के संयुक्त नेतृत्व में मॉकड्रिल के दौरान आमजन की सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही शांति एवं सौहार्दपूर्ण माहौल बनाने संबंधी पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की गई। ऐहतियात के रूप में शहर में पुलिस की दस कंपनियां तैनात की गई है। शहर के अलग-अलग मार्गों पर नाके लगाए गए हैं।

बाइक रैली में सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए डीआईजी राकेश आर्य के नेतृत्व में तीन आईपीएस अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। इनमें आईपीएस वसीम अकरम मंच और इसके आसपास में वीआईपी की सुरक्षा व्यवस्था संभालेंगे। आईपीएस राजेंद्र कुमार मीणा पंडाल में और आईपीएस हामिद अकरम के नेतृत्व में हजारों पुलिस कर्मी व पैरा मिलिट्री जवान सुरक्षा व्यवस्था संभालेंगे। इसके अलावा 4 आईपीएस भी इस दौरान रैली स्थल पर व शहर में रहेंगे। सोमवार को ही काफी संख्या में पुलिस व पैरामिलिट्री फोर्स के जवानों की रैली स्थल पर तैनाती भी कर दी गई।

जींद में अब तक पैरामिलिट्री फोर्स की 30 कंपनी पहुंची

बीजेपी की बाइक रैली को लेकर सोमवार तक जींद में पैरामिलिट्री फोर्स की 30 कंपनियां पहुंच चुकी हैं। इसके अलावा दूसरे जिलों से काफी संख्या में पुलिसकर्मी जींद पहुंचे हैं। पैरामिलिट्री फोर्स की जो कंपनिया पहुंची उनमें से कई कंपनियों ने रैली स्थल से कुछ दूरी पर पांडु-पिंडारा तीर्थ स्थल पर मंदिरों, धर्मशालाओं में डेरा डाला है।

20 एलईडी से रैली को लाइव देख सकेंगे कार्यकर्ता

शाह की बाइक रैली में आने वाले सभी कार्यकर्ताओं को लाइव प्रसारण देखने के लिए कोई असुविधा न हो, इसके लिए 300 बाई 1250 फीट के पंडाल में करीब 20 एलईडी लगेंगी। जो 8 बाई 20 फीट साइज की होंगी। दिल्ली की कंपनी द्वारा इसको लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है। इतना ही नहीं रैली में पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन अभियान की पालना दिखाई देगी।

इसके लिए स्थल के पास 850 टॉयलेट बनाए जाएंगे। रैली में पूरी तरह से व्यवस्था बनाए रखने के लिए अनुशासन पर जोर रहेगा। इसके लिए पहले से ही पंडाल को 40 सेक्शनों में बांटा जा रहा है। अगली पंक्ति में कौन बैठेगा और बीच व आखिरी में कौन-कौन होंगे, इसके लिए बाकायदा साइन बोर्ड चस्पाए जाएंगे। रैली में आने वाले कार्यकर्ताओं की भीड़ के लिए 160 पॉइंटों पर पेयजल की सुविधा होगी।

रैली में की जा रही व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुए डीजीपी बीएस संधू ने पुलिस अधिकारियों से कहा कि काफी धीमा काम चल रहा है। इसमें तेजी लाए। डीजीपी ने इस दौरान रैली में कहां किसके बैठने की व्यवस्था होगी, कहां से रैली में कौन आएगा इन सबका जायजा लिया।

25 बसें सौंपी प्रशासन को, ग्रामीण यात्री सेवा होंगी प्रभावित

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष की जींद में आयोजित होने वाली मोटरसाइकिल रैली एवं जाट आरक्षण संघर्ष समिति की ओर से बलिदान दिवस मनाए जाने की दृष्टि से जिले में आईटीबीपी और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की दस कंपनियां लगाई है। इन जवानों को लाने व ले जाने के लिए 25 बसें रहेगी। 25 बसों के प्रशासन के पास रहने से यात्री सेवा प्रभावित हुई है। सोमवार को ये अधिकांश बसें पुलिस लाइन में रही। रोडवेज जीएम लेखराज का कहना है कि कानून और व्यवस्था बनाए रखना प्रशासनिक व्यवस्था में सभी विभागों का सांझा प्रयास है।

इसके तहत रविवार से 25 बसें मांगी है। यदि प्रशासन को ओर बसों की दरकार होगी, तब इसकी भी व्यवस्था की जाएगी। बसों के लौटने की व्यवस्था प्रशासन के आगामी आदेशों पर ही निर्भर है। यात्रियों को अधिक परेशानी ना हो, इसके लिए लंबे रूट की बसों को नहीं हटाया गया है। जबकि लोकल ग्रामीण रुटों पर कुछ चक्र कम किए गए हैं।

Show Buttons
Hide Buttons