भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को CBFC की हरी झंडी

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ के लिए एक अच्छी खबर आई है। लगातार हो रहे विरोध के बाद अब खबर है कि फिल्म का नाम बदल दिया जाएगा। सेंसर बोर्ड ने निर्देश दिया है कि फिल्म का नाम बदलकर ‘पद्मावत’ किया जाए। हालांकि इस बात अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सेंसर बोर्ड ने फिल्म में कुछ बदलाव करने की बात कही है। इन बदलाव के बाद फिल्म को U/A सर्टिफिकेट दे दिया जाएगा।

किस बात पर रिव्यू कमेटी को थी आपत्ति

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ रिव्यू कमेटी ने फिल्म के टाइटल ‘पद्मावती और घूमर डांस पर आपत्ति जताई और इसे बदलने की सलाह दी. सूत्रों के मुताबिक़ इसे मां लिया गया है. सूत्रों ने यह भी बताया कि बोर्ड फिल्म को UA सर्टिफिकेट देने पर राजी है. निर्माताओं को फिल्म में डिस्क्लेमर भी डालना होगा.

रानी पद्मिनी के वशंज ने जताई थी नाराजगी

इससे पहले आज तक को रानी पद्मावती के वंशज विश्वराज सिंह ने बताया था कि सेंसर ने उन्हें रिव्यू कमेटी में शामिल होने के लिए न्योता दिया था. विश्वराज ने सेंसर की कार्यप्रणाली पर ही सवाल उठा दिए थे.

सेंसर चीफ प्रसून जोशी को भेजे दो खतों में विश्वराज सिंह ने फिल्म में पद्मावती को लेकर कुछ सवाल पूछे थे. जिनका जवाब नहीं दिया गया. विश्वराज ने सवाल उठाया कि जब फिल्म के 5 मिनट के सीन को ठीक नहीं किया जा सका तो दो घंटे की फिल्म को सेंसर कैसे ठीक करेगा?

क्या है विवाद

डायरेक्टर संजय लीला भंसाली पर आरोप है कि उन्होंने इस फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ की है. करणी सेना इस फिल्म का जमकर विरोध कर रही है. उनका कहना है कि फिल्म में पद्मावती और खिलजी के बीच आपत्तिजनक सीन फिल्माए गए हैं जिससे उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची है. हालांकि भंसाली इन आरोपों को नकार चुके हैं.

Show Buttons
Hide Buttons