बड़ी खबर : ATM में कैश नहीं होने से देश में एक बार फिर बने नोटबंदी जैसे हालात

देश में एक बार नकदी का संकट सामने आ रहा है। चार राज्य सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश और यूपी के कई शहरों में एटीएम के खाली होने की खबरें हैं। लोगों को पैसे मिल नहीं पा रहे हैं। इससे लोगों को काफी दिक्कतें हो रही हैं। उन्हें एक बार फिर नोटबंदी वाला समय याद आ गया है। आरबीआई की मानें तो नकदी की कमी त्योहार के मौसम में भारी मांग के कारण है। नियामक ने आगे दावा किया कि एक या दो दिनों में स्थिति सामान्य हो जाएगी। सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र बिहार बताया जा रहा है।

इसी समस्या पर बोलते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘16.5 लाख करोड़ नोट मुद्रित और वितरित किए गए, लेकिन 2000 रुपए के नोट कहां हैं? कौन नकदी की कमी पैदा करने की कोशिश कर रहा है? यह समस्या पैदा करने की साजिश है और राज्य सरकार इस पर सख्त कार्रवाई करेगी। हम केंद्र के संपर्क में हैं।’ उन्होंने कहा, जब नोटबंदी हुई थी तब 15 लाख करोड़ रूपए के नोट बाजार में थे और आज साढ़े सोलह लाख करोड़ के नोट छापकर बाजार में भेजे गए हैं। लेकिन दो-दो हजार के नोट कहां जा रहे हैं, कौन दबाकर रख रहा है, कौन नकदी की कमी पैदा कर रहा है। यह षडयंत्र है।’

नकदी की कमी को लेकर विपक्ष सरकार पर हमलावर हो गया है। बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया, ‘बिहार में विगत कई दिनों से अधिकांश ATM बिल्कुल खाली हैं। लोगों के सामने गंभीर संकट है। लोगों का बैंकों में जमा उनका पैसा भी बैंक जरूरत के हिसाब से उन्हें नहीं दे रहे हैं। नोटबंदी घोटाले का असर इतना व्यापक है कि बैंको ने हाथ खड़े कर रखे है। नए नोट सर्कुलेशन से क्यों गायब हैं?

Show Buttons
Hide Buttons