बड़ा हादसा : एक ही घर से निकली तीन अर्थियां, कंधा देने वाले भी ऐसे दहाड़े मारकर रोते रहे…

कानपुर : यहां शनिवार को एक सड़क हादसे में पति-पत्नी और मासूम बच्ची की मौत हो गई। रविवार को तीनों की बॉडी म‍िली तो घर में कोहराम मच गया। सोमवार की सुबह जब एक साथ तीन अर्थि‍यां निकली तो कोई शख्स अपने आंसू नहीं रोक पाया। स्थानीय निवासी संदीप के मुताबिक, चारों अोर बस रोने-सिस्कियों की आवाजें आ रही थीं, नजारा देख रोंगटे खड़े हो गए।

चचेरे भाई की शादी से लौट रही थी फैमिली

किदवई नगर थानाक्षेत्र में रहने वाले विपिन यादव पत्नी प्रियंका यादव और एक बेटी भोली के साथ चाचा जगदीश यादव के बेटे आशीष यादव की बारात में गए थे। शनिवार देर रात विपि‍न परिवार के साथ अपनी कार से लौट रहा था। कार जैसे ही साढ़ के दरगाहीलाल पुल के पास पहुंची, अनियंत्रित होकर गहरे खड्डे में जा गिरी। इस दौरान कार में पानी भर गया, जिसमें विपिन यादव, उनकी पत्नी प्रियंका यादव और बच्ची भोली की मौत हो गई। राहगीरों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने राहगीरों की मदद से सभी को बाहर निकाला। वहीं, मृतक के घरवालों की जब ये जानकारी हुई तो घर में कोहराम मच गया। बताया जा रहा है कि कार से जब लाशें निकाली गईं तो मां, बच्ची को अपने सीने से चिपकाए थी। बता दें, कार में तीन अन्य लोग भी सवार थे, जो बच गए हैं। उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है।

चाचा से कहा था- सुबह अाऊंगा

विपिन के चाचा जगदीश ने बताया, ”बेटे की शादी थी। शादी समारोह से विपिन लौट रहा था। उसने कहा था क‍ि चाचा अभी घर जा रहा हूं। आप की बहू और बच्चों को छोड़कर सुबह आऊंगा।” मैंने उससे कहा था क‍ि बेटा सुबह जल्दी आ जाना और यहां का काम संभाल लेना। मुझे क्या पता था उसके साथ यह हादसा हो जाएगा। हमारा तो सब कुछ बर्बाद हो गया। मेरे बड़े भाई का भी देहांत हो चुका है। मैं विपिन को बहुत प्यार करता था उसकी भी शादी मैंने ही कराई थी।”

क्या कहती है पुलिस ?

एसपी ग्रामीण जय प्रकाश सिंह के मुताबिक, शादी समारोह से पूरा परिवार लौट रहा था। साद क्षेत्र में एक मोड़ पड़ता है, जहां कार अनियंत्रित होकर नहर के बगल में एक खाई गिर गई। पुलिस टीम गस्त पर थी। उन्होंने देखा तो सभी को बाहर निकलवाया और हॉस्प‍िटल पहुंचाया, जहां 3 लोगों को डॉक्टरों ने मृत घोष‍ित कर द‍िया। शवों का पंचनामा कराकर पोस्टमॉर्टम के ल‍िए भेज द‍िया गया है। वहीं, घायलों का इलाज चल रहा है।

Show Buttons
Hide Buttons