बॉलीवुड अभिनेत्री प्रीति जिंटा की गैरकानूनी ढंग से बनाई गई कंपनी को लगा बड़ा झटका

प्रीति जिंटा की कंपनी केपीएच ड्रीम क्रिकेट प्राइवेट लिमिटेड पर कोर्ट में केस चलेगा. चंडीगढ़ के डॉक्टर सुभाष सतीजा का आरोप है कि उन्होंने अपनी एक कोठी कंपनी को रिहायश के लिए दी थी जिसमें दफ्तर खोल दिया गया. ऐसा होने पर स्टेट ऑफिस ने डॉ. सतीजा को 38 लाख रुपये का नोटिस भेज दिया जिसे डॉक्टर ने कंपनी से ही वसूलने का फैसला किया है.

दरअसल, कंपनी का कहना था कि उन्होंने डॉ. सतीजा की कोठी में ऑफिस नहीं खोला था। जब आईपीएल के मैच होते थे तब यहां कंपनी के ऑफिशियल्स को ठहराया जाता था। कंपनी का कहना था कि डॉ. सतीजा कोठी को बेचना चाहते थे और जब इस्टेट ऑफिस ने उन पर 38 लाख का बकाया बताया तो उन्होंने इसके लिए कंपनी को जिम्मेदार ठहरा दिया। कंपनी ने इस आधार पर केस खत्म करने की एप्लीकेशन दी थी जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया। अब मामले की अगली सुनवाई 23 जुलाई के लिए तय की गई है।

एस्टेट ऑफिस ने कोठी मालिक को 3.32 लाख रुपये के वॉयलेशन चार्ज के साथ नोटिस भेजा था। इस नोटिस को चैलेंज करते हुए कोठी मालिक ने प्रीति जिंटा की कंपनी के खिलाफ जिला अदालत में सिविल सूट दायर किया था। यह वॉयलेशन चार्ज अब करीब 85 लाख रुपये का बन चुका है। इसी केस को खारिज करने के लिए प्रीति जिंटा की कंपनी ने याचिका दायर की थी, जिसे सुनवाई के बाद अदालत ने खारिज कर दिया।

Show Buttons
Hide Buttons