बिहार DM ने ट्रेन के आगे कूदकर किया सुसाइड, जानिए वजह

नई दिल्‍ली/ गाजियाबाद : बक्‍सर (बिहार) के डीएम मुकेश पांडेय ने गुरुवार शाम के समय गाजियाबाद में आत्‍महत्‍या कर ली. पुलिस आत्‍महत्‍या के कारणों का पता लगाने का प्रयास कर रही है. पांडेय का शव गाजियाबाद स्‍टेशन से एक किलोमीटर दूर कोटगांव के पास रेलवे ट्रैक पर क्षत-विक्षिप्‍त हालत में मिला. उनका शव मिलने की पुष्टि गाजियाबाद के एसएसपी एचएन सिंह ने की.

बता दें कि 2012 बैच के आईएएस अधिकारी मुकेश पांडेय को 31 जुलाई को बक्सर का डीएम बनाया गया था. बतौर जिलाधिकारी यह उनकी पहली पदस्थापना थी. इसके पहले वे बेगूसराय के बलिया अनुमंडल में एसडीएम व कटिहार में डीडीसी के पद पर सेवा दे चुके थे.

मुकेश पांडेय छपरा के रहने वाले थे. 2012 में ऑल इंडिया में 14वीं रैंक लाने वाले मुकेश पांडेय तेज तर्रार, बेदाग और कड़क अफसर थे. उन्हें वर्ष 2015 में संयुक्त सचिव रैंक में प्रमोशन मिला था.

मेरा अच्छाई पर से विश्वास उठ गया’

पांडेय ने शाम छह बजे घरवालों को व्‍हाट्सप किया था कि वे दिल्ली की एक इमारत से छलांग लगा आत्महत्या करने जा रहे हैं. घरवालों ने तुरंत इसकी सूचना दिल्ली पुलिस को दी. दिल्ली पुलिस जब तक कुछ कर पाती पांडेय गाजियाबाद चले गए और ट्रेन से कटकर जान दे दी. सूत्रों के अनुसार मुकेश पांडेय ने वाट्सएप के जरिये घर में यह संदेश भेजा था कि मैं अपनी जिंदगी से तंग आकर आत्महत्या करने जा रहा हूं. मेरा अच्छाई पर से विश्वास उठ गया है.

बिहार DM ने ट्रेन के आगे कूदकर किया सुसाइड, 7 दिन पहले हुई थी पोस्टिंग

सुसाइड नोट में मर्जी से आत्महत्या की बात लिखी

  • मैं अपनी मर्जी से आत्महत्या कर रहा हूं. मेरी मौत के बाद मेरी अत्महत्या की खबर मेरे रिश्तेदारों को दे दी जाए. मैं दिल्ली के लीला पैलेस होटल के कमरा नंबर 742 में रुका हूं. मेरे बैग में सुसाइड नोट है जिसमें पूरी जानकारी है.’’
  • सुसाइड नोट में चार फोन नंबर भी दिए हुए हैं. जो मुकेश पांडे के परिवार वालों के हैं. सुसाइड नोट में एक जगह लिखा है कि विस्तृत सुसाइड नोट बैग में है. फिलहाल पुलिस ने उस सुसाइड नोट का खुलासा नहीं किया है, जिसकी वजह से ये साफ नहीं हो सका है कि मुकेश पांडे ने खुदकुशी क्यों की.
  • बक्सर के डीएम की आत्महत्या के बाद राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शोक जताया है। उन्होंने लिखा कि वह एक कुशल प्रशासक और संवेदनशील अधिकारी थें, भगवान उनकी आत्मा को शांति दें।
Show Buttons
Hide Buttons