फ्लोरिडा के हाईस्कूल में फायरिंग-स्कूली बच्चों समेत 17 लोगों की मौत

साउथ फ्लाेरिडा के एक हाईस्कूल में बुधवार को एक स्टूडेंट ने फायरिंग कर दी, जिसमें 17 लोगों की मौत हो गई। इनमें कई स्टूडेंट्स भी शामिल हैं। करीब 14 लोग जख्मी हुए हैं। इनमें से तीन की हालत नाजुक है। आरोपी निकोलस क्रूज की उम्र 19 साल है। वह इसी स्कूल का पूर्व छात्र है। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। अमेरिका की खुफिया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) जांच में लोकल ऑफिशियल्स की मदद कर रही है।

आरोपी स्टूडेंट स्कूल से निकाले जाने से गुस्से में था

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, ये घटना मियामी से करीब 72 किमी दूर पार्कलैंड इलाके के मार्जरी स्टोनमैन डगलस हाईस्कूल में छुट्टी से पहले हुई। पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पहले स्कूल का फायर अलार्म बजाया। इससे स्कूल में अफरा-तफरी मच गई, जिसके बाद उसने फायरिंग शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि अारोपी स्टूडेंट को डिसीप्लिन तोड़ने की वजह से स्कूल से निकाल दिया गया था, जिसकी वजह से वह गुस्से में था।गोलीबारी के दौरान स्टूडेंट बुरी तरह डरकर चीखने लगे। उन्होंने अपने दोस्तों और परिवार के लोगों को मदद के लिए मैसेज भेजने शुरू कर दिए।

एक भारतीय मूल का स्टूडेंट भी जख्मी

इस स्कूल में कई भारतीय मूल के अमेरिकी स्टूडेंट्स भी पढ़ते हैं। उनमें से एक के जख्मी होने की खबर है। वह नवीं क्लास का स्टूडेंट है। हालांकि, वह खतरे से बाहर है।

वारदात में AR-15 असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल

– पुलिस के मुताबिक, अारोपी स्टूडेंट ने इस वारदात में AR-15 असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल किया।

– यह भी बताया जा रहा है कि इस घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी ने बिना किसी विरोध के सरेंडर कर दिया।

पहले स्कूल के बाहर फायरिंग की

– ब्रोवार्ड काउंटी के शेरिफ स्‍कॉट इजरायल ने बताया कि आरोपी क्रूज ने पहले स्कूल के बाहर फायरिंग की, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई, फिर वह बिल्डिंग में घुसा और 12 और लोगों की हत्या कर दी। दो जख्मियों ने अस्पताल में दम तोड़ा।

US के स्कूलों में इस साल फायरिंग की 18वीं घटना

– एक गन कंट्रोल ग्रुप के मुताबिक, यूएस के स्कूलों में इस साल फायरिंग की ये 18वीं घटना है। इसमें खुदकुशी करने के और वे मामले भी शामिल हैं, जिनमें कोई हताहत नहीं हुआ।

– बता दें कि जनवरी में ही बेनटॉन के एक स्कूल में 15 साल के लड़के ने फायरिंग कर दी थी, जिसमें दो स्टूडेंट्स की जान चली गई थी।

ट्रम्प ने जताईं संवेदनाएं

– अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने इस घटना पर ट्वीट कर संवेदनाएं जताईं। उन्होंने लिखा, “मेरी प्रार्थनाएं और संवेदनाएं फ्लोरिडा में हुई गोलीबारी में पीड़ितों के साथ हैं।”

Show Buttons
Hide Buttons