फिल्म ‘अब तक छप्पन’ के असिस्टेंट डायरेक्टर ने की आत्महत्या, ये है बड़ी वजह

अपने दौर में बेहद सफल फिल्म रही ‘अब तक छप्पन’ के सह-लेखक रविशंकर आलोक ने आत्महत्या कर ली. 32 साल के रविशंकर स्क्रीनप्ले राइटर थे. अंधेरी वेस्ट में रहने वाले आलोक ने बिल्डिंग की छत से कूदकर अपनी जान दे दी. वो दोपहर दो बजे उसी बिल्डिंग से कूद पड़े जिसमें वो रहते थे.

बताया जा रहा है कि रविशंकर के पास पिछले एक साल से कोई काम नहीं था. वे किराए के घर में रहते थे. उनके भाई ने बताया कि रविशंकर डिप्रेशन में थे. बुधवार को एक बिल्ड‍िंग से कूदकर रविशंकर ने जान दे दी. उनके पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

आपको बता दें की फिल्म ‘अब तक छप्पन’ मुंबई पुलिस के तेजतर्रार पुलिस अधिकारी दया नायक के जीवन पर आधारित थी। जिसमें बॉलीवुड अभिनेता नाना पाटेकर ने उनकी भूमिका निभाई थी। बताया जाता है कि जब आलोक ने इस फिल्म का लेखन किया था, तब उनकी उम्र सिर्फ 18 साल की थी।

Show Buttons
Hide Buttons