पीएम मोदी और ममता बनर्जी की मदद से महिला को मिला नया जीवन

राजनीतिक मोर्चे पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पीएम नरेंद्र मोदी की विरोधी रही हैं। लेकिन कई मुद्दे ऐसे भी होते हैं जिसमें देश व राज्य के प्रशासनिक प्रमुखों की कवायद की जरूरत पड़ती है। ऐसी ही एक कवायद से कोलकाता की एक मरीज को नया जीवन मिला है।

कोलकाता के श्यामबाजार में रहने वाली एक महिला की दोनों किडनी ने काम करना बंद कर दिया था। महिला के पति जिनकी उम्र 40 साल है, उनका कभी ट्रांसपोर्ट का बिजनेस हुआ करता था, लेकिन पत्नी के इलाज के लिए उन्हें सभी गाड़ियों को बेचना पड़ा। किडनी प्रत्यारोपण के लिए उन्हें काफी पैसे की जरूरत थी। घर में एक बेटा भी है जो अभी छोटा है।

जब उनकी परेशानी बढ़ी तो उन्होंने अपने टाकि ब्वायज स्कूल के मित्रों को अपनी परेशानी बताई। तृणमूल से निष्कासित पूर्व सांसद कुणाल घोष भी इसी स्कूल में पढ़े थे। बात कुणाल घोष तक भी पहुंची थी और उन्होंने सांसद रहते हुए पीएम व सीएम से लिखित रूप से मदद की गुहार लगाई थी। इसी के बाद महिला के इलाज के लिए पीएम के कोष से दो लाख 95 हजार रुपए, जबकि सीएम के कोष से एक लाख रपए आवंटित किए गए।

बीते शनिवार को ही महिला के किडनी का प्रत्यारोपण किया गया। महिला को उनकी मां ने किडनी दान किया है। फिलहाल महिला की स्थिति स्थिर बनी हुई है और उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है। हालांकि यह प्रक्रिया इतनी आसान नहीं थी और पैसे मिलने में करीब तीन महीने का लंबा इंतजार करना पड़ा।

Show Buttons
Hide Buttons