पलक झपकते ही बच्चे ने दिया चोरी की वारदात को अंजाम।

रेवाड़ी : शहर के सरकुलर रोड स्थित पीएनबी की चेस्ट ब्रांच में पेट्रोल पंप का कैश जमा कराने आए कर्मचारी का 21 लाख 76 हजार रुपए से भरा बैग चोरी कर लिया गया। पहले से ही बैंक में मौजूद तीन-चार युवकों ने मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया। कैशियर से बात करते समय कर्मी का ध्यान हटते ही युवक बैग लेकर फरार हो गए। पूरी घटना सीसीटीवी में भी कैद हो गई।

ये सस्पेंस- युवक आए किस वाहन पर और गए कैसे ?

– वारदात की सूचना के बाद डीएसपी सतपाल यादव, शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नरेंद्र सिंह, सीआईए इंचार्ज इंस्पेक्टर सतेन्द्र सिंह पुलिस बल सहित मौके पर पहुंचे।

– उन्होंनें सीसीटीवी फुटेज खंगाली। इसमें बैंक के अंदर की घटना तो नजर आ रही है, लेकिन बाहर युवक किस वाहन पर भाग निकले कुछ पता नहीं लग पाया।

– बैंक की फुटेज सड़क पर सामने की है। युवक बांई तरफ मुड़े, फिर आगे की फुटेज किसी दुकान से भी नहीं मिल पाई।

पूरी तैयारी थी… बैग रखने से उठाने तक महज 30 सेकंेड लगे :

– सीसीटीवी फुटेज में नजर आ रहे समय के मुताबिक दोपहर 12 बजकर 29 मिनट 22 सेकंड पर कर्मचारी ने बैग काउंटर के पास रखा तथा कैशियर से कुछ बात करने लगा।

– दो-तीन युवक पहले से बैंक में थे, वो तुरंत बैंक के निकास की तरफ जाते हैं तथा तैयार खड़े अपने साथी को इशारा देते हैं। युवक लाल शर्ट पहने आता है 12 बजकर 29 मिनट 52 सेकंड पर बैंक का गेट पार कर जाता है।

– दो मिनट तक कंपनी कर्मी नंदकुमार को बैग चोरी होने का पता भी नहीं लगा। फिर जब उसने अपना दूसरा बैग उठाया तो देखा कि उसका एक बैग गायब था।

साथियों का इशारा, थैला उठाकर युवक रफूचक्कर

  •  सीएमएस कंपनी द्वारा पीएनबी के फील्ड से कैश कलेक्शन का कांट्रैक्ट लिया हुआ है।
  • शुक्रवार को एनएच-8 पर खेड़ा बॉर्डर के निकट बालाजी पेट्रोल पंप का कैश कलेक्ट कर कंपनी कर्मचारी नारनौल निवासी नंदकुमार इसे जमा कराने के लिए शहर की मुख्य पीएनबी शाखा पहुंचा था।
  • नियमानुसार यहां पर कम कैश काउंटर पर ही जमा कर लिया जाता है, जबकि बड़ी रकम सीधी चेस्ट में ही जमा हाेती है।
  • नंदकुमार ने कैश काउंटर पर राशि जमा कराने के बाद चेस्ट में जमा कराने के लिए 21 लाख 76 रुपए से भरा बैग काउंटर के पास नीचे ही रख दिया और खुद कैशियर से बात करने लगा।
  • इसी दौरान नंदकुमार पर पहले से नजर रखे युवकों ने तेजी से बैंक के गेट की तरफ जाकर अपने साथी को इशारा किया।
  • एक युवक अंदर आया तथा पैसों से भरे बैग को उठाकर चुपके से बाहर की तरफ निकल गया। पुलिस ने नाकाबंदी भी की, मगर आरोपियों को नहीं पकड़ा जा सका।

ये हुई चूक – बैग काउंटर के पास ही नीचे रख दिया

घटना की वजह तलाशें तो दो बड़ी चूक भी इसकी जिम्मेदार हैं। पहली ये कि कर्मी ने लापरवाह तरीके से बैग को काउंटर के पास नीचे रख दिया। इसके बाद इसे देखा तक नहीं। हालांकि बैग जहां रखा था वहां छोटा एंट्री गेट लगा था, लेकिन उसे बंद नहीं किया गया था। इस कारण आसानी से वारदात अंजाम दे दी गई।

Show Buttons
Hide Buttons