दोनों हाथ व्यस्त होने के बावजूद भी छाता कर सकेंगे इस्तेमाल.. जानते है कैसे ?

जापान की एक सूचना प्रौद्योगिकी कंपनी ने ऐसा छाता तैयार किया है, जो ड्रोन की मदद से उड़ सकता है। सेंसर लगा होने के कारण यह छाता व्यक्ति के आसपास ही घूमता रहता है। इसका वजन 5 किलोग्राम है, जो फिलहाल 5 मिनट तक उड़ सकता है।

दूरसंचार प्रणाली विकसित करने वाली कंपनी आशी पावर इस नमूने पर काफी समय से काम कर रही है। कंपनी का लक्ष्य है कि 2020 में होने ओलिंपिक और पैरालिंपिक से पहले यह छाता व्यावहारिक उपयोग में लाया जा सके।

माना जा रहा है कि शुरुआत में इस उड़ने वाले छाते का इस्तेमाल निजी संस्थानों में ही किया जाएगा। जापान में सिविल एयरोनॉटिक्स के नियमों के मुताबिक, ड्रोन को सार्वजनिक स्थानों पर मौजूद व्यक्ति या बिल्डिंग से करीब 30 मीटर की दूरी पर होना चाहिए।

वजन ज्यादा होने के चलते यह देर तक उड़ नहीं पाता। अगर व्यक्ति धीरे चलता है तो यह अपनेआप उसके साथ घूम भी नहीं पाता। जाल से बने होने के कारण बारिश होने पर अभी इससे बचाव होना भी मुश्किल है।

Show Buttons
Hide Buttons