थप्पड़ के बदले महिला कांस्टेबल ने महिला विधायक को जड़ दिया थप्पड़

शिमला : हिमाचल में गुजरात की तरह कांग्रेस की शर्मनाक हार हुई है उसके बावजूद भी कांग्रेस की अकड़ खत्म होती हुई नजर नहीं आ रही है. आखिर किस आधार पर एक ऑन ड्यूटी पुलिस कांस्टेबल पर जो कि एक महिला है उस पर हाथ उठाया गया अब सबसे बड़ा सवाल यही है कि क्या इस महिला दिग्गज नेता पर पुलिस कार्रवाई करती है या नहीं करती है.

हिमाचल प्रदेश में अपनी पार्टी की हार की समीक्षा के लिए पहुंचे राहुल गांधी की बैठक में शामिल होने के लिए आई महिला विधायक ने पुलिसकर्मी को थप्पड़ मार दिया. जवाब में महिला पुलिसकर्मी ने भी विधायक को थप्पड़ जड़ दिया और दोनों के बीच जमकर थप्पड़ चले.

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन शिमला में राहुल गांधी पार्टी की हार की समीक्षा करने पहुंचे जिस दौरान कांग्रेस विधायक आशा कुमारी को महिला पुलिस कांस्टेबल ने अंदर जाने से रोक दिया. इस पर दोनों में बहस हो गई. देखते ही देखते बात इतनी बढ़ गई कि कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने पहले महिला पुलिस कांस्टेबल को तमाचा मार दिया. तमाचे के जवाब में महिला पुलिस कांस्टेबल ने भी आशा कुमारी को तमाचे जड़ दिए. दोनों के बीच जमकर थप्पड़बाजी हुई. इस दौरान लोगों ने बीच-बचाव कर दोनों को अलग किया.

आशा कुमारी चंबा राजघराने से ताल्लुक रखती हैं और हिमाचल से 5 विधायक रह चुकी है. आशा कुमारी पंजाब कांग्रेस की प्रभारी हैं और हाल में हुए हिमाचल प्रदेश के चुनाव में अपने गृह क्षेत्र डलहौजी से चुनाव जीतकर विधनसभा पहुंची हैं.

राहुल गांधी के कहने पर मांगी माफी 

इस मामले की जानकारी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तक भी पहुंची. राहुल ने अपनी विधायक की इस गलती को समझा और आशा कुमारी को मंच पर बुलाकर उन्हें कांस्टेबल से माफी मांगने को कहा. राहुल गांधी ने कहा, यह हमारी सभ्यता नहीं है. इस पर विधायक आशा कुमारी ने कहा, हालांकि मेरी गलती नहीं है लेकिन क्योंकि राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है तो मैं इस प्रकरण पर माफी चाहती हूं.

 

Show Buttons
Hide Buttons