जिन्ना विवाद : छात्रों का धरना और भूख हड़ताल हुआ ख़तम लेकिन लड़ाई रहेगी जारी

जेएनयू से लापता छात्र नजीब की अम्मी नफीसा के आग्रह एवं रमजान को देखते हुए एएमयू के छात्रों ने पांच दिनों से चल रही भूख हड़ताल और 15 दिनों से चल रहे धरने को समाप्त कर दिया है। नफीसा ने छात्र नेताओं को जूस पिलाकर अनशन खत्म कराया। छात्रों का यह धरना जिन्ना की तस्वीर को लेकर बीती दो मई को हुए विवाद के बाद शुरू हुआ था।

30 अप्रैल को अलीगढ़ के बीजेपी सांसद सतीश गौतम ने जिन्ना की तस्वीर का मामला उठाया था. दो मई को कुछ हिन्दूवादियों ने नारेबाजी की. एएमयू के छात्रों ने इनका विरोध किया तो पुलिस से टकराव हो गया. तभी से नाराज छात्र धरने पर बैठे थे. अब जाकर यह धरना खत्म हो पाया है.

छात्रों ने भूख हड़ताल खत्म कर दी है लेकिन उनका कहना है कि सांकेतिक धरना जारी रहेगा. रमजान से पहले से धरना खत्म हो गया. अब पुलिस प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है.

उन्होंने बताया कि हमारी कुछ जायज मांग हैं, जिनको लेकर हम राष्ट्रपति और केंद्रीय गृहमंत्री से मुलाकात करेंगे. नजीब की मां नफीस फातिमा ने कहा कि कोई लड़ाई भूखे पेट नहीं लड़ी जा सकती, मैंने बच्चों से भूख हड़ताल खत्म करने को कहा. उन्होंने मेरी बात मान ली.

Show Buttons
Hide Buttons