कोचिंग सेंटर गई छात्रा का किया गया सामूहिक दुष्कर्म।

रोहतक के डी पार्क के पास स्थित एक होटल में भिवानी की एक छात्रा की सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई। भिवानी सिटी थाना पुलिस ने इस मामले में दो युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है। छात्रा भिवानी के एक गांव की थी। उसके पिता सेना की असम राइफल में कार्यरत हैं। फिलहाल उनका परिवार भिवानी शहर की एक कॉलोनी में रह रहा है। पुलिस को छात्रा की मां ने शिकायत दर्ज कराई है।

पढ़िए पूरा मामला

  •  पुलिस को दी शिकायत में मृतका की मां ने बताया कि उसकी 20 वर्षीय पुत्री भिवानी में सेंटर में एसएससी की कोचिंग ले रही थी। 10 मार्च को वह स्कूटी लेकर सेंटर पर गई।
  •  शाम तक घर नहीं लौटी तो सूचना पुलिस को दी। पुलिस को स्कूटी भिवानी बस स्टैंड पर मिली। आरोप लगाया कि दो युवकों पर अपहरण कर उसे रोहतक स्थित एक होटल में ले गए, जहां उन्होंने छात्रा के साथ दुष्कर्म किया।
  •  छात्रा के विरोध करने पर आरोपियों ने उसका गला दबा दिया। हालत खराब होने से आरोपी उसे एक निजी अस्पताल में छोड़कर भाग गए।
  •  पुलिस ने मामले की सूचना छात्रा के परिजनों को दी। इसके बाद छात्रा का पिता व परिवार के सदस्य रोहतक पहुंचे। मंगलवार शाम को छात्रा ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।
  •  शहर थाना प्रभारी श्रीभगवान ने बताया कि छात्रा का शव पोस्टमार्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म व हत्या समेत विभिन्न धाराओं के तहत आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

मुख्य आरोपी को होटल में लेकर पहुंची भिवानी पुलिस

– छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म व हत्या के मामले में भिवानी पुलिस ने मुख्य आरोपी झज्जर जिले के बेरी कस्बा निवासी अर्जुन को हिरासत में ले लिया है।

– बुधवार शाम को एसएचओ श्रीभगवान की टीम अर्जुन को रोहतक के डी पार्क के होटल पर लेकर पहुंची। यहां पुलिस व एफएसएल प्रभारी डॉ. सरोज दहिया ने होटल के उस कमरे में सबूत जुटाए जहां पर वारदात हुई।

– पुलिस टीम करीब डेढ़ घंटे तक कमरे के अंदर जांच में जुटी रही। इसके बाद पुलिस आरोपी को लेकर वापस भिवानी की तरफ निकल गई।

पोस्टमार्टम में मौत की वजह नहीं हो पाई स्पष्ट

रोहतक पीजीआई के फोरेंसिक विभागाध्यक्ष डॉ. एसके धतरवाल का कहना है कि सिविल अस्पताल के डाक्टरों के बोर्ड ने छात्रा के शव का पोस्टमार्टम किया है। अभी तक छात्रा की मौत के असली कारणों का पता नहीं चल पाया। विसरा रिपोर्ट जांच के लिए भेज दी। लैब से रिपोर्ट आने के बाद ही छात्रा के मौत के असली कारणों का पता चल पाएगा।

Show Buttons
Hide Buttons