कल्पना चावला की तरह एक ओर बेटी देश के नाम समर्पित हो गई : राजकीय सम्मान के साथ हुआ संस्कार

करनाल। कोस्ट गार्ड में सहायक कैप्टन पेनी चौधरी का गुरुवार को करनाल में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार हुआ। पेनी को उसके पिता गुरमीत चौधरी ने मुखाग्नि दी। संस्कार के बाद सीएम मनोहर लाल खट्टर भी पेनी के परिवार से मिले और उन्हें सांत्वना दी। बता दें कि पेनी हेलीकॉप्टर की एमरजेंसी लैंडिंग के दौरान घायल हो गई थी। उसकी इलाज के दौरान 17 दिन के बाद बुधवार को मौत हो गई थी।

  • पेनी चौधरी ने दिसंबर 2013 को कोस्ट गार्ड ज्वाइन किया था। उनकी उम्र करीब 26 वर्ष थी।
  • गुरुवार को करनाल के मॉडल टाउन स्थित शिवपुरी में उनका हजारों नम आंखों ने अंतिम संस्कार हुआ।
  •  पेनी के अंतिम संस्कार पर इंडियन कोस्ट गार्ड व हरियाणा पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया और इस बहादुर बेटी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया गया।
  • कृष्णा मंदिर के सभागार में पेनी चौधरी की याद में 2 मिनट का मौन रखा गया और भगवान से प्रार्थना की गई।

सीएम ने दिया हर मदद का आश्वासन

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि करनाल की कल्पना चावला की तरह एक ओर बेटी देश के नाम समर्पित हो गई। ऐसे में भारत माता ऐसी बेटी को देश के सम्मान के लिए बार-बार इस भूमि पर जन्म दें। मैं ऐसी कामना करता हूं और परिवार को आश्वासन दिलाता हूं कि सरकार की ओर से जो भी होगा,उसको पूरा करने का भरसक पर्यत्न किया जाएगा।

ये भी रहे मौजूद

इस दौरान हैफेड़ के चेयरमैन एवं घरौंडा के विधायक हरविन्द्र कल्याण, शुगर फैड के चेयरमैन चंद्रप्रकाश कथूरिया, मुख्यमंत्री के ओएसडी अमरेन्द्र सिंह,बीजेपी के जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, नगर निगम की मेयर रेनू बाला गुप्ता, केडीबी के सदस्य राकेश नागपाल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कुमारी शैलजा, पूर्व मंत्री शशिपाल मेहता, पूर्व विधायक सुमिता सिंह, योगेन्द्र राणा, बृजलाल शर्मा , इंडियन कोस्ट गार्ड के डिप्टी कमांडेंट उमेश व उनके साथी मौजूद रहे।

Show Buttons
Hide Buttons