एनएचएम के तहत अनुबंध पर काम कर रहे कर्मचारियों को राज्य सरकार ने सेवा नियम बनाकर दिया नए वर्ष का तोहफा

लंबे समय से आंदोलनरत एनएचएम के तहत अनुबंध पर काम कर रहे कर्मचारियों को राज्य सरकार ने सेवा नियम बनाकर नए वर्ष का तोहफा दिया है। अब सेवा नियमों के अनुसार कर्मचारियों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है। इनके टीए-डीए और यात्रा भत्ता में संशोधन किया गया है। इनका दैनिक भत्ता 200 रुपए से 800 रुपए तक बढ़ा दिया गया है। इसके अलावा इन्हें अन्य सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। इससे वर्तमान में प्रदेश के करीब 12 हजार कर्मचारियों को फायदा होगा।

यह नियम एक जनवरी से लागू माने जाएंगे। हालांकि इन सेवा नियमों का लाभ कम से कम 5 वर्ष का संतोषजनक कार्यकाल पूरा करने पर ही मिलेगा। सरकार ने अब एनएचएम के तहत 13 हजार 183 पदों को 454 कैटेगिरी में विभाजित किया है। अब तक यह कर्मचारी फिक्स सेलरी पर ही काम कर रहे थे।

कर्मचारियों को होंगे लाभ

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का कहना है कि इन कर्मचारियों के यात्रा भत्ता एवं दैनिक भत्ता (टीए व डीए) नियमों में भी संशोधन किया गया है। इसी प्रकार दूसरे प्रदेशों में यात्रा के दौरान दी जाने वाली सुविधाओं में सकारात्मक बदलाव किया गया है। एनएचएम के कर्मचारियों के साथ किए गए वायदे के आधार पर इन नियमों की घोषणा तय समय सीमा में 1 जनवरी से लागू कर दी गई है। इससे कर्मचारियों को बहुत लाभ होगा।

Show Buttons
Hide Buttons