एक बार फिर इनेलो विधायकों ने की नारेबाजी

हरियाणा विधानसभा के बाहर बुधवार को एक बार फिर इनेलो विधायकों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। मंगलवार को सदन से निलंबित होने के बाद इनेलो विधायकों ने सदन के बाहर समानांतर सदन चलाने की घोषणा की थी लेकिन निलंबन से बचे 4 विधायकों ने सदन में दोबारा इनेलो विधायकों को शामिल किए जाने की मांग की। उनका कहना था कि वे भी अपने हल्कों की आवाज उठाने के लिए सदन में आए हैं। इस पर विधानसभा स्पीकर कंवर पाल गुज्जर ने सदन से उन्हें बुलाने के लिए पूछा। सदन की अनुमति के बाद इनेलो विधायकों को सदन में शामिल होने के लिए दोबारा एंट्री दे दी। बता दें कि विधानसभा सत्र 15 मार्च तक चलेगा।

  • सदन के अंदर सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने दिल्ली द्वारा गंदा पानी यमुना में डालकर उसे प्रदूषित करने का मामला उठा। विधायकों ने कहा कि इस वजह से गुड़गांव, फरीदाबाद और मेवात के लोगों को पीने के लिए गंदा पानी मिल रहा है।
  •  इस पर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि उन्होंने इस समस्या के लिए कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के नेतृत्व में एक कमेटी गठित करने का निर्णय लिया है। कमेटी में गुड़गांव, मेवात, फरीदबाद और पलवल के विधायक भी शामिल होंगे। जो इस समस्या का समाधान तलाशेगी।
  •  उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से मांग की जाएगी कि हरियाणा से पहले यमुना में किसी भी तरह का गंदा पानी न डाला जाए। इस कमेटी में दिल्ली सरकार को भी शामिल किए जाने की योजना बनाई जाएगी। यमुना के साथ लगते इलाकों में नया नाला बनाए जाने का भी विचार है।
  •  सीएम ने कहा कि इनेलो, कांग्रेस और बीजेपी के विधायकों ने मिलकर कहा था कि इन जिलों में गंदे पानी के कारण कैंसर रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है।
Show Buttons
Hide Buttons