एक झटके में परिवार की खुशियों पर लगा मौत का ग्रहण,वजह जानकर आप सब भी हो जाएंगे हैरान

जब परिवार में किसी एक सदस्य की मौत हो जाए तो बहुत दुःख होता हैं. परिवार के बाकी सदस्य का रो रो कर बुरा हाल हो जाता हैं. लेकिन जब एक साथ पूरा परिवार ही मौत के मुंह में चला जाए तो इससे बड़ी चौकाने वाली और दुखद बात कुछ नहीं हो सकती हैं. ऐसी ही एक बेहद दुखद और दिल को झंझोड़ देने वाली घटना राजस्थान में देखने को मिली हैं. यहाँ एक ही परिवार के चार सदस्य भगवान को प्यार हो गए जबकि पांचवा मेम्बर हॉस्पिटल में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहा हैं. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला.

जानकारी के मुताबिक ये पूरी घटना राजस्थान के बूंदी शहर के सब्जीमंडी के पीछे की हैं. यहाँ रहने वाला एक परिवार घर के अन्दर संदिग्ध परिस्थितियों में मृत पाया गया हैं. इस घटना में घर का मुखिया महेश प्रकाश बैरवा (50) अस्पताल में भर्ती हैं तो वहीँ उसकी पत्नी मंजू बाई (45), बड़ी बेटी सिमरन (25), छोटी बेटी शिवानी (23) और बेटा प्रतिक (7) का निधन हो चूका हैं.

50 वर्षीय महेश प्रकाश बैरवा जिन्हें इलाके में राज बूंदी के नाम से भी जाना जाता हैं, केरोसिन के थोक डीलर हैं. ऐसा अनुमान लगाया जा रहा हैं कि इस परिवार के चारो सदस्यों की हत्या की गई हैं. पुलिस के अनुसार तीनो बच्चों की मृत्यु जहर की वजह से हुई हैं जबकि महेश की पत्नी मंजू के गले में कट के निशान मिले हैं. वहीँ घर का मुखिया महेश जो कि अस्पताल में भर्ती है, ने भी जहर के बाद अपनी हाथ की नस काट ली.

महेश के भतीजे ललित प्रकाश के अनुसार ये पूरी वारदात सोमवार सुबह की हैं. ललित ने सुबह नल में पानी आने पर अपने चाचा महेश को आवाज़ लगाईं थी. हालाँकि उनका कोई जवाब नहीं आया. इस पर ललित उनके घर के दरवाजे पर जाकर आवाज़ देने लगा. जब कई कोशिशो के बाद भी जवाब नहीं आया तो ललित दरवाजे की साकल तोड़ अन्दर घुस गया. ललित ने देखा कि कमरे के पलंग पर उनका चाचा महेश और बेटा प्रतिक पड़ा हुआ हैं.

वहीँ चाची मंजू और उनकी दोनों बेटियां सिमरन व शिवानी दुसरे कमरे में पलंग पर पड़ी हैं. मंजू के गले में चोट के निशान थे और खून फैला हुआ था. हालाँकि चाचा महेश की साँसे चल रही थी. जब उन पर पानी डाला तो वे होश में आए और कीटनाशक खाने की बात बताई.

ललित ने तुरंत एंबुलेंस को फोन किया. लेकिन उसमे आने में देरी हुई तो कार से ही अपने चाचा को लेकर अस्पताल भेजा. बाद में जब एंबुलेंस आई तो महेश की पत्नी व तीनो बच्चों को अस्पताल लाया गया जहाँ डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

मामले की सुचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल से चाक़ू औ ब्लेड बरामद की. साथ ही मृत लोगो की लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया. फिलहाल इस घटना के सही कारण का पता नहीं लग सका हैं. हालाँकि पुलिस को हत्या का शक हैं. साथ ही लोगो का कहना हैं कि महेश पर काफी कर्ज भी था.

Show Buttons
Hide Buttons