इलेक्ट्रिक कारों को बढ़ावा देने के लिए ये है सरकार का प्लान

केंद्र सरकार ने इलेक्ट्रिक कारों को बढ़ावा देने के लिए चार्जिंग स्टेशन का निर्माण करने का प्रस्ताव दिया है। इस प्रस्ताव के तहत सरकार 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में प्रत्येक तीन किलोमीटर पर चार्जिंग स्टेशन बनाएगी। ऐसे ही स्टेशन स्मार्ट सिटीज में भी लगेंगे।

प्रस्ताव के मुताबिक प्रत्येक राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी हर 50 किलोमीटर की दूरी पर ऐसे स्टेशन बनाए जाएंगे। सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूरे देश में करीब 30 हजार स्लो चार्जिंग व 15 हजार फास्ट चार्जिंग स्टेशन की जरुरत पड़ेगी। यह चार्जिंग स्टेशन अगले 3 से 5 सालों में चरणबद्ध तरीके से लगाए जाएंगे।

9,400 करोड़ का पैकेज किया तय 

सरकार ने देश में इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड वाहन बनाने के लिए 9,400 करोड़ का पैकेज तय किया है। इसमें से सरकार उन लोगों को 2.5 लाख रुपये तक के इंसेटिव आॅफर कर सकती है जो अपने पुराने पेट्रोल या डीजल वाहनों को हटाएंगे। इसके साथ ही इलेक्ट्रिक या हाइब्रिड वाहनों के पुर्जे बनाने वालों को भी रियायत देगी

कई शहरो को मिली अनुमति

एनटीपीसी, पावरग्रिड कॉर्पोरेशन और इंडियन ऑयल को यह चार्जिंग स्टेशन बनाने की अनुमति मिल गयी है। एनटीपीसी महाराष्ट्र के कई शहरों में और पावरग्रिड हैदराबाद में इनका निर्माण करने में जुट गई है।

वहीं महिंद्रा एंड महिंद्रा, टाटा मोटर्स, ओला और उबर भी इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए चार्जिंग स्टेशन बनाने के लिए सरकार के प्रस्ताव पर विचार कर रही हैं।

Show Buttons
Hide Buttons