आज से ऑनलाइन ही मिलेगा राशन

 हरियाणा : हरियाणा में शनिवार के बाद अब डिपो से राशन सामग्री ऑनलाइन ही मिलेगी। इसके साथ ही लाभार्थियों को यह सुविधा भी होगी कि वे अब पूरे प्रदेश में कहीं पर भी किसी भी डिपो पर जाकर अपने हिस्से की राशन सामग्री ले सकेंगे। यह स्कीम अभी तक राज्य के 16 जिलों में चल रही थी, लेकिन 1 जुलाई से बाकी 6 जिलों फरीदाबाद, रेवाड़ी, नूंह, पलवल, सोनीपत और पानीपत में भी लागू हो जाएगी।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी एसएस प्रसाद ने बताया कि उचित मूल्य की सभी दुकानों पर प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) मशीनें उपलब्ध कराई गई हैं। कई जिलों में अभी भी इन पीओएस मशीनों के माध्यम से ही राशन सामग्री वितरित की जा रही है। मुख्यालय पर उपभोक्ताओं की शिकायतों का निवारण करने के लिए सहायता केन्द्र भी बनाया गया है। टोल फ्री नंबर 1800-180-2087 या 1800-180-1967 पर संपर्क करके शिकायत का निवारण किया जा सकता है।

37 लाख लाभार्थियों ने अभी भी नहीं दिया आधार
हरियाणा में कुल 1.35 करोड़ लाभार्थी और 29 लाख राशनकार्ड होल्डर हैं। राशन सामग्री लेने में किसी को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए परिवार के सभी सदस्यों के आधार नंबरों को राशनकार्ड के साथ जोड़ा गया है। ताकि बायोमैट्रिक के माध्यम से परिवार के सदस्य की सही पहचान हो सके। इनमें से पहले 42 लाख लाभार्थियों के आधार सीडिंग नहीं हो पाई थी।

अगले महीने हरियाणा आएंगे मोदी: पीएम नरेंद्र मोदी का अगले महीने के आखिरी सप्ताह में हरियाणा आने का कार्यक्रम बन सकता है। इसके लिए सीएम मनोहर लाल की ओर से उन्हें आमंत्रण भी भिजवाया है। दरअसल, राज्य की भाजपा सरकार की प्रधानमंत्री के हाथों हरियाणा के आखिरी राशन डिपो को भी ऑनलाइन करवाने की मंशा है। इसके साथ ही पूरे प्रदेश में राशन पोर्टिबिलिटी स्कीम भी लागू हो जाएगी।

500 करोड़ की बचत
राशन की दुकान से राशन लेने के लिए सरकार ने ‘आधार’ अनिवार्य कर दिया है। इससे अकेले हरियाणा सरकार को साल में 500 करोड़ रुपए की बचत की उम्मीद है। फर्जी नाम पर अनाज लेने वालों पर लगाम लगेगी। वास्तविक लाभार्थी को पर्याप्त अनाज मिलना सुनिश्चित हो सकेगा।

Show Buttons
Hide Buttons