आज भी हैं रहस्यमयी गुफाएं- हजारों साल पुरानी हैं भारत की ये 8 गुफाएं

भारत में ऐसी कई गुफाएं हैं, जो हजारों साल पुरानी हैं। प्राचीन होने के साथ-साथ धर्म से जुड़ी होने के कारण भी ये गुफाएं बहुत ही खास हैं। इन गुफाओं और गुफा मंदिरों में अलग-अलग शताब्दियों की कलाओं के उदाहरण देखने को मिलते हैं। आज हम आपको भारत में बनी हिंदू धर्म की ऐसी ही प्राचीन और खास गुफाओं के बारे में बता रहे हैं-

1. वराह गुफाएं (तमिलनाडु)

वराह गुफा तमिलनाडु में चैन्नई के महाबलीपुरम में स्थित है। वराह गुफा में भगवान विष्णु का मंदिर है। चट्टानों को काटकर की गई कलाकारी इतनी सुंदर है कि इसे यूनेस्को की विश्व विरासत का हिस्सा बनाया गया है। वराह गुफा पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है।

2. एलीफेंटा की गुफा (महाराष्ट्र)

मुंबई के गेट वे ऑफ इंडिया से लगभग 12 किलोमीटर दूर एलीफेंटा की गुफाएं हैं। यह गुफा यहां के पहाड़ों को काटकर बनाई गई है। यहां लगभग 7 गुफाएं हैं, जिनमें से सबसे महत्‍वपूर्ण है महेश मूर्ति गुफा। एलीफेंटा को घारापुरी के नाम से भी जाना जाता है।
इस गुफा में अर्द्धनारीश्‍वर, भगवान शिव, रावण द्वारा कैलाश पर्वत को ले जाते हुए और नटराज शिव की उल्‍लेखनीय छवियां दिखाई गई हैं। इस गुफा संकुल को यूनेस्‍को द्वारा विश्‍व विरासत का दर्जा दिया गया है।

3. अजंता-एलोरा की गुफाएं (महाराष्ट्र)

यह स्थान महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में स्थित है। इसमें अजंता में 29 बौद्ध गुफाएं और कई हिंदू मंदिर मौजूद हैं। ये गुफाएं अपनी चित्रकारी और अद्भुत मंदिरों के लिए प्रसिद्ध हैं।

4. अमरनाथ गुफा (जम्मू-कश्मीर)

अमरनाथ की गुफा हिंदू धर्म के सबसे महत्वपूर्ण और खास तीर्थ स्थलों में से एक है। माना जाता है कि यहीं पर भगवान शिव ने देवी पार्वती को अमरकथा सुनाई थी। हजारों वर्ष पुरानी इस गुफा में आज भी बर्फ का प्राकृतिक शिवलिंग निर्मित होता है, जिसके दर्शन के लिए हर साल लाखों भक्त यहां जाते हैं।

5. बादामी गुफा (कर्नाटक)

यह सुंदर और नक्काशीदार गुफा कर्नाटक के बादामी नामक क्षेत्र में स्थित है। बादामी की 4 गुफाओं में से 2 गुफाएं भगवान विष्णु, 1 भगवान शिव और 1 जैन धर्म से संबंधित है। पहाड़ों को काटकर लाल पत्थर से बनाई गई ये गुफाएं अपनी सुंदरता के लिए फेमस हैं।

6. परशुराम महादेव गुफा मंदिर (राजस्थान)

राजस्थान के अरावली में स्थित इस प्राचीन गुफा मंदिर को परशुराम महादेव गुफा मंदिर कहा जाता है। माना जाता है कि इसका निर्माण विष्णु के अवतार भगवान परशुराम ने अपने फरसे से चट्टान को काटकर किया था। इस गुफा मंदिर के अंदर एक स्वयंभू शिवलिंग है। कहते हैं यहां परशुराम ने घोर तपस्या की थी। तपस्या के बल पर उन्होंने भगवान शिव से धनुष और दिव्य फरसा प्राप्त किया था।

7. सीताबेंग-जोगीमारा गुफा (छत्तीसगढ़)

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले की रामगढ़ पहाड़ियों में सीताबेंग और जोगीमारा नाम की दो गुफाएं हैं। यहां तक पहुंचने के लिए आपको प्राकृतिक टनल के रास्ते से जाना होगा। छत्तीसगढ़ के पहाड़ी इलाकों और घने जंगल से होते हुए ही इन गुफाओं तक पहुंचा जा सकता है। ये गुफाएं कांगड़ वैली के नेशनल पार्क के पास स्थित है।

8. बाराबर गुफाएं (बिहार)

बाराबर गुफाएं बिहार के गया जिले में स्थित हैं। ये गुफाएं देश की सबसे प्राचीन गुफाओं में से हैं। इन गुफाओं में हिंदू धर्म से संबंधित कई प्रसंगों और देवी-देवताओं की कलाकृतियां देखने को मिलती हैं।

Show Buttons
Hide Buttons