आखिर कौन है गोरखपुर के BRD अस्पताल में बच्चों की मौत का जिम्मेदार ?

गोरखपुर : बाबा राघव दास (BRD) मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में बीते दो दिन में 30 बच्चों की मौत होने का मामला सामने आया है. फिलहाल इन मौतों का कारण इन्सेफलाइटिस माना जा रहा है. कुछ रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया कि ऑक्सीजन सप्लाई रुकना भी बच्चों की मौत की एक वजह है. लेकिन यूपी सरकार इससे इनकार कर रही है. बता दें कि यह घटना यूपी के सीएम योगी अादित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र में हुई है. दो दिन पहले योगी ने इसी अस्पताल का दौरा किया था.

बताया जा रहा है कि 69 लाख रुपये का भुगतान न होने की वजह से ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली फर्म ने ऑक्सीजन की सप्लाई गुरुवार की रात से ठप कर दी थी. खबरों के मुताबिक पिछले 5 दिनों में 60 बच्चों की मौत हो चुकी है. हालांकि अस्पताल प्रशासन ने ऑक्सीजन की कमी से इंकार किया है.

डॉक्टर ने बताया कि जापानी बुखार से 8 से 12 बच्चे रोजाना मरते हैं…
हालांकी स्थानीय प्रशासन ने बच्चों की मौत के कारणों का पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी है. अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि परसों यानी 10 अगस्त को 23 बच्चों और कल 7 बच्चों की मौत हुई है. ये मौतें आईसीयू में हुई हैं. सांसद कमलेश पासवान ने अस्पताल का दौरा किया. डॉक्टर ने बताया कि जापानी बुखार से 8 से 12 बच्चे रोजाना मरते हैं. मामला इसलिए भी ज्‍यादा गंभीर हो जाता है कि यह मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के गृह जनपद में हुआ है. मुख्यमंत्री गुरुवार को इस इलाके में दौरे पर भी थे.

यूपी सरकार: ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई एक भी मौत
इस बारे में यूपी सरकार के मेडिकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टंडन ने कहा कि ऑक्सीजन की सप्लाई की कमी से कोई मौत नहीं हुई है.उन्होंने बताया कि सात की मौत आज हुई, पर ये मौतें ऑक्सीजन की कमी से नही हुई.

आज गोरखपुर जाएंगे कांग्रेस के बड़े नेता

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बबर आज गोरखपुर में बीआरडी कॉलेज का दौरा करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इस हादसे पर दुख जताया है.

सोनिया गांधी ने कहा है, ”इस भयावह त्रासदी से बड़ा दुख हुआ है और उन्हें उन बच्चों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना है, जो प्रशासन की गंभीर लापरवाही और ढीठ आचरण के शिकार बन गए.  सोनिया ने इस अपराध का तत्काल संज्ञान लेने और दोषियों पर मामला दर्ज करने की अपील की. वहीं, राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘बहुत दुख हुआ. मेरी संवेदना ऐसे बच्चों के परिवारों के साथ है.

Show Buttons
Hide Buttons