अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की अफवाह, सोशल मीडिया पर लोगों ने दी श्रद्धांजलि

शहर में और आसपास के इलाकों में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की अफवाहें फैलती रहीं और लोगों ने उन्हें वाट्सएप ग्रुप में श्रद्धांजलि दे दी। दरअसल कल से ही उनकी मौत की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी, जो कि एक अफवाह थी। कुछ लोग इस खबर को झूठ बताते रहे तो कुछ लोग सच मान बैठे। यहां तक कि कुछ लोगों ने तो बिना सच जाने ही इसे सच मान लिया।

जानकारी के मुताबिक 2015 में उड़ीसा के बालासोर जिले में एक प्राइमरी स्कूल के प्रिंसिपल कमलकांत दास ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयीके निधन के बारे में सूचना दी थी।
दरअसल प्रिंसिपल को एक ट्रेनिंग प्रोग्राम में उनके साथियों ने गलत सूचना दे दी थी, जिसे बिना वेरिफाई किए उन्होंने श्रद्धांजलि सभा रख दी थी।
फिर श्रृध्दांजलि सभा के बाद स्कूल के बच्चों को छुट्टी भी दे दी गई थी।
कलेक्टर को सूचना लगने पर प्रिंसिपल को निलंबित कर दिया गया था।

24 दिसंबर 2016 को भी आया था एक मामला

  •  24 दिसंबर शनिवार को गर्ल्स कॅालेज खंडवा (म.प्र) में उनका जन्मदिन मनाया गया था।
  • उस कार्यक्रम में अटल बिहारी वाजपेयी के जिंदा रहते हुए श्रद्धांजलि दे दी गई।
  •  कॉलेज में हुए कार्यक्रम में प्राचार्य पुष्पलता केसरी व अन्य प्राध्यापकों ने पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर फूल चढ़ाए थे और अगरबत्ती भी लगाईं गई थी।
  •  ऐसा मृत व्यक्ति को याद करते हुए किया जाता है। जिंदा रहते हुए ऐसा नहीं किया जा सकता। इस मामले के संबंध में प्राचार्य के मोबाइल पर संपर्क किया तो उन्होंने कोई जबाव नहीं दिया।
Show Buttons
Hide Buttons