अंबानी पर टूटा दुखों का पहाड़, जानकर आपको भी लगेगा बड़ा झटका

आज हमारा देश अगर इन्टरनेट यूसेज में इतना आगे हो चूका है तो वह भी अम्बानी जी की ही देन  है |देश में आज मुकेश अंबानी ने जो नाम कमाया है उससे हर कोई वाकिफ होगा अंबानी और उनके परिवार को लेकर आये दिन कोई ना कोई खबर सोशल मीडिया पर आती रहती है.

रिलायंस जियो टेलीकॉम सेक्टर में बड़ी टेलीकॉम कंपनी के रूप में अपनी जगह बना चुका है. लेकिन सिर्फ जियो के नेटवर्क ने ही नहीं बल्कि जियोफोन ने भी फीचरफोन मार्केट में अपनी एक अलग छाप छोड़ दी है जियो की वजह से भारत दो साल के भीतर ही दुनिया का सबसे बड़ा मोबाइल ब्रॉडबैंड डेटा यूज करने वाले देश बन गया है. मुकेश अंबानी ने कहा कि जियो का आइडिया आने के बाद से रिलायंस ने भारत के फोन मार्केट में 31 बिलियन डॉलर (2.01 हजार करोड़ रुपये) का निवेश किया है.

2016 में शुरू हुआ जियो ने टेलीकॉम मार्केट में एंट्री के साथ ही तहलका मचा दिया है.|बता दे मार्केट में जिओ नेटवर्क आने की वजह से मोबाइल सर्विस देने वाली सभी कंपनियां अपने नेटवर्क को 4जी वोल्ट के लिए बनाने में पैसे खर्च कर रहे हैं. एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया अपने नेटवर्क को अपग्रेड कर रहे हैं|

अंबानी ने देश की जनता को जिओ सिम की सुविधा देकर खासा नाम कमाया. देश के ज्यादातर हिस्से में jio ने बहुत तेजी से अपनी पकड़ बनाई और एक बड़ा बिजनेस खड़ा किया. jio आने के बाद से ग्राहकों ने काफी समय तक अनलिमिटेड इंटरनेट का भरपूर आनंद लिया. अब अंबानी को लेकर एक ऐसे खबर आ रही है जिसने अंबानी परिवार को काफी गहरा सदमा पहुंचाया है. जिसे जानने के बाद आपको भी झटका लग सकता है.

जानकारी के लिए बता दें कि मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो की दूरसंचार एसोसिएशन सेल्युलर ऑपरेटर्स ऑफ़ इंडिया यानि COAI  के बीच जंग तेज हो गयी है. jio ने बताया है कि COAI ने हाल ही में बयान दिया है वह हमारे लिए है. बता दें jio COAI का सदस्य है और इस हफ्ते लिखे दूसरे कड़े शब्दों वाले पत्र में jio ने ये भी कहा है कि RJIL उस दावे का खंडन करता है जिसमें ये कहा गया था कि प्रेस बयान किसी एक ऑपरेटर के खिलाफ नहीं था.

COAI ने 20 फरवरी को एक बयान जारी किया था जिसमें उनसे कहा था कि ट्राई के आदेश रिलायंस jio को तरजीह देते हैं. इस बयान का खंडन करते हुए jio ने इसे मलीन तथा मानहानि वाला करार दिया. वहीँ jio ने इस बयान की कड़ी निंदा करते हुए मानहानि करने की बात कही थी. jio ने ये तक कहा है कि COAI केवल एयरटेल, आईडिया और वोडाफोन का प्रवक्ता बनकर रह गया है.

Show Buttons
Hide Buttons